DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुशर्रफ पर मुकदमे के लिए याचिका दायर

मुशर्रफ पर मुकदमे के लिए याचिका दायर

पाकिस्तान के पूर्व सैनिक शासक परवेज मुशर्रफ पर घोर देशद्रोह का मुकदमा चलाने के आदेश के लिए सुप्रीम कोर्ट में शनिवार को एक याचिका दायर की गई। द नेशन में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान की विपक्षी पार्टी पीएमएल- एन के वरिष्ठ नेता जफर अली शाह ने पूर्व राष्ट्रपति के खिलाफ संविधान के अनुच्छेद छह के तहत घोर देशद्रोह का मुकदमा शुरू करने के सिलसिले में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है।

यह याचिका संविधान के अनुच्छेद 184:3 के तहत दायर की गई है और इसमें अनुच्छेद 183:4 के तहत मुशर्रफ और सरकार को पक्षकार बनाया गया है। मुशर्रफ के तीन नवम्बर 2007 को देश में आपातकाल लागू किये जाने को सुप्रीम कोर्ट द्वारा असंवैधानिक और गैरकानूनी करार देने का हवाला देते हुए शाह ने पूर्व सैन्य तानाशाह के खिलाफ अनुच्छेद छह के तहत मुकदमा दायर करने का आदेश देने की अपील की है।

रिपोर्ट के मुताबिक शाह ने अपनी याचिका में कहा है कि मुशर्रफ ने आपातकाल लागू करके और 60 से ज्यादा न्यायाधीशों को बर्खास्त करके घोर देशद्रोह किया है। इससे पहले, इस्लामाबाद पुलिस ने नवम्बर 2007 में देश में लागू आपातकाल के दौरान 60 से ज्यादा न्यायाधीशों को बर्खास्त करने के आरोप में मुशर्रफ के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अगुवाई वाला विपक्षी दल पाकिस्तान मुस्लिम लीग—नवाज मुशर्रफ के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाने की मांग कर रहा है। मुशर्रफ इस वक्त अपने लेक्चर टूर पर विदेश में हैं। मुशर्रफ ने वर्ष 1999 में तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की सरकार का तख्तापलट किया था।

सुप्रीम कोर्ट के मुशर्रफ द्वारा वर्ष 2007 में देश में आपातकाल लागू किये जाने को असंवैधानिक बताए जाने के बाद पीएमएल-एन ने सरकार पर पूर्व राष्ट्रपति के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाने के लिये दबाव बढ़ा दिया है।

इससे पहले, शरीफ ने सैन्य बलों से पूर्व सैनिक तानाशाह से दूरी बनाए रखने के लिए कहा था। साथ ही मुशर्रफ के खिलाफ अपने कार्यकाल में संविधान को निलम्बित करने के आरोप में मामला दर्ज करवाया था। मुशर्रफ ने वर्ष 2007 के अंत में जनरल अशफाक परवेज कयानी को अपना सैन्य उत्तराधिकारी चुनने के बाद राष्ट्रपति का पद छोड़ दिया था।

प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने कहा है कि संसद द्वारा सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किए जाने के बाद ही सरकार मुशर्रफ के खिलाफ मुकदमा चलाएगी। मुशर्रफ कई अन्य देशों में व्याख्यान देने के लिये अप्रैल के मध्य में पाकिस्तान से रवाना हुए थे। पिछले कुछ हफ्तों से वह लंदन में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुशर्रफ पर मुकदमे के लिए याचिका दायर