DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोर्ट ने तीन को दोषी ठहराया

कोर्ट ने तीन को दोषी ठहराया

दिल्ली की एक अदालत ने 1984 के दंगों के दौरान एक सिख परिवार के सदस्यों की हत्या का प्रयास करने के मामले में तीन लोगों को दोषी ठहराया है और इस घटना के दौरान दिल्ली पुलिस और राज्य मशीनरी की भूमिका पर उन्हें फटकार लगाते हुए कहा कि इस घटना ने विश्व राजनीति में हमारा सिर शर्म से झुका दिया।

अतिरिक्त सत्र न्यायधीश सुरेन्द्र एस राठी ने मंगल सेन उर्फ बिल्ला, ब्रज मोहन वर्मा और भगत सिंह को उत्तरी दिल्ली के शास्त्री नगर में हत्या का प्रयास, दंगा और डकैती करने के मामले में दोषी करार दिया। न्यायधीश ने सिख विरोधी दंगों के दौरान दिल्ली पुलिस और राज्य मशीनरी द्वारा अपनाए गए तरीके पर उन्हें फटकार लगाई।

अदालत ने कहा कि हम विश्व में सबसे बड़ा लोकतंत्र होने पर गर्व करते हैं और दिल्ली इसकी राजधानी है। 1984 के सिख विरोधी दंगों के बारे में आम लोगों में जो धारणा है और उस वक्त दिल्ली सरकार एवं राज्य की मशीनरी ने जो भूमिका निभाई थी, उसने विश्व राजनीति में हमारा सिर शर्म से झुका दिया।

दिल्ली पुलिस की दंगा निरोधक प्रकोष्ठ ने इस घटना की जांच की थी। गौरतलब है कि एक नवंबर 1984 को दोषी करार दिए गए इन तीनों लोगों के नेतृत्व में एक भीड़ ने जोगिंदर सिंह के मकान को फूंक दिया था, जिसमें वह अपने दो बेटों, जगमोहन सिंह तथा गुरविंदर सिंह के साथ बुरी तरह से घायल हो गए थे। यह संभावना जताई जा रही है कि इन तीनों दोषियों को 29 अगस्त को सजा सुनाई जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोर्ट ने तीन को दोषी ठहराया