DA Image
19 जनवरी, 2020|1:44|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंबानी विवाद में पीएम नहीं करेंगे मध्यस्थता

अंबानी विवाद में पीएम नहीं करेंगे मध्यस्थता

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह अंबानी बंधुओं के बीच के गैस विवाद में हस्तक्षेप अथवा मध्यस्थता नहीं कर रहे हैं। यद्यपि उनका मानना है कि इन दो शीर्ष उद्योगपतियों को राष्ट्रहित में सुलह करनी चाहिए।

प्रधानमंत्री कार्यालय के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। नाम न देने के आग्रह पर इस अधिकारी ने कहा कि मीडिया की इन खबरों में सच्चाई नहीं हैं कि मनमोहन सिंह ने दोनों भाइयों से कृष्णा गोदावरी नदी घाटी की प्राकृतिक गैस को लेकर चल रहे विवाद को सुलझाने के लिए मध्य मार्ग अपनाने का सुझाव दिया है।

तथापि, उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की जगजाहिर राय यह है कि परस्पर झगड़े में उलझे दोनों भाइयों को आपसी सुलह करते हुए मिलकर काम करना चाहिए। अधिकारी ने कहा कि प्रधानमंत्री का आम रुख रहा है कि लड़ने के बजाय, उन्हें सुलह करनी चाहिये क्योंकि दोनों के ही कंपनी समूह भारत के आर्थिक विकास पर पर्याप्त योगदान करते हैं।

अनिल अंबानी की कंपनी आरएनआरएल की बड़े भाई मुकेश अंबानी की अगुआई वाली समूह कंपनी आरआईएल के साथ पारिवारिक समझोते के अनुरूप 2.34 डालर प्रति एमएम बीटीयू की तय कीमत पर गैस प्राप्त करने के संदर्भ में लंबी कानूनी लड़ाई चल रही है। इनका मामला उच्चतम न्यायालय में सुनवाई के लिए एक सितंबर को आने वाला है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:अंबानी विवाद में पीएम नहीं करेंगे मध्यस्थता