DA Image
29 सितम्बर, 2020|2:08|IST

अगली स्टोरी

एनटीपीसी को होगा 1000 करोड़ का नुकसान

एनटीपीसी को होगा 1000 करोड़ का नुकसान

सरकारी कंपनी एनटीपीसी को रिलायंस इंडस्ट्रीज के केजी डी- 6 तेल क्षेत्र से प्राकृतिक गैस लेने की बजाय मंहगी एलएनजी के आयात को तरजीह देने के कारण 1,000 करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है।

एनटीपीसी ने गेल इंडिया के साथ 10 साल तक 20 लाख घन मीटर प्रति दिन के आधार पर गैस लेने के लिए समझोता किया है जिसकी कीमत आठ डालर प्रति एमएमबीटीयू होगी।
 कंपनी के अधिकारी ने कहा कि एनटीपीसी 2009 की चौथी तिमाही से एलएनजी लेना शुरू करेगी जिसकी कीमत 6.4 डालर प्रति एमएमबीटीयू होगी और इसमें परिवहन, कर और बाजार का मार्जिन शामिल नहीं होगा।

उद्योग सूत्रों ने एनटीपीसी के निर्णय पर आश्चर्य व्यक्त किया कि उसने रिलायंस इंडस्ट्रीज के केजी डी 6 से 4.2 डालर प्रति एमएमबीटीयू की दर से गैस क्यों नहीं लिया। एनटीपीसी के दिल्ली के संयंत्रों तक गैस की आपूर्ति 6.7 डालर प्रति एमएमबीटीयू पर हो जाएगी और कुल गैस समझोते में फर्क 1,000 करोड़ रुपये का होगा।

एनटीपीसी केजी डी- 6 से गैस नहीं लेना चाहती क्योंकि वह आरआईएल के साथ 2004 की निविदा के संबंध में कानूनी झगड़े में उलझी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:एनटीपीसी को होगा 1000 करोड़ का नुकसान