DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विवादों से सुर्खियां जुटाते सितारें

विवादों से सुर्खियां जुटाते सितारें

आजकल फिल्मी सितारों की बयानबाजी गॉसिप कॉलम को छोड़ फ्रंट पेज तक जा पहुंची है। ऐसे में अगर किसी चोटी के सितारे के साथ कुछ हो जाए तो उस पर राष्ट्रीय स्तर पर बहस तक होने लगी है। बीते दिनों कुछ ऐसे ही मामले सामने आये, जिनमें फिल्मी सितारे पहले पन्ने की खबर बन गये। शाहरुख खान से लेकर इमरान हाशमी तक और सेलिना जेटली से लेकर संभावना सेठ तक कई सितारे सुर्खियों में छाए रहे। आरोप यह भी लगे कि सितारे बहुतेरे मामलों में मुफ्त का प्रचार पाने के लिए ऊट-पटांग शब्दों का इस्तेमाल कर मुंह फाड़ कर बयानबाजी करते हैं और सनसनी फैलाते हैं।


सितारों की बयानबाजी ब्लॉग्स वार्ता में भी देखी जाती है। फिर बात चाहे अमिताभ बच्चन, आमिर खान या फिर शाहरुख खान की हो। वक्त बेवक्त जब इन चर्चित सितारों की उंगलियां कलम बन कर की-बोर्ड पर पट पटापट पड़ती हैं तो कुछ न कुछ मसाला सामने आ ही जाता है।


सितारों की सनसनीखेज रपटों पर नजर डालने से पहले जरा एक नजर पूर्व में घटित कुछ ऐसे विवादों पर डाल ली जाए, जिनके बाद उक्त सितारों की दुनिया ही बदल गयी। तो सबसे पहले नाम राखी सावंत का लिया जाना चाहिये, क्योंकि अगर मिका-राखी कांड न होता तो शायद आज वो राखी हमारे सामने नहीं होती, जिसे चैनल वाले स्वयंवर जैसे शो के बाद टीआरपी की क्वीन मान बैठे हैं।

राखी-मिका कांड के बारे में आज बच्चा-बच्चा जानता है। इस कांड के बाद राखी सावंत को बिग बॉस मिला और उसके बाद तो उनके पास रियलिटी शोज की झड़ी सी लग गई। राखी के साथ-साथ मिका को भी नेगेटिव प्रचार का फायदा हुआ। आज मिका के पास एलबम कम बल्कि फिल्मी संगीत ज्यादा है। इन दोनों के अलावा कॉमेडी शोज के उन मसखरों को भी फायदा हुआ जो यदा-कदा राखी-मिका कांड को लेकर खिल्ली उड़ाते हैं। मोटे तौर पर उस कांड के बाद राखी और मिका को अपने-अपने फील्ड में संघर्ष नहीं करना पड़ा और वह सक्सेस की पटरी पर दौड़ने लगे। इससे क्या समझ जाए? क्या सितारों को मुफ्त की नेगेटिव पब्लिसिटी से भी फायदा होता है। राखी-मिका के केस से तो ऐसा ही लगता है।

बहरहाल, ताजा मुद्दा है शाहरुख खान और उनकी अमेरिका यात्र का। न्यूयॉर्क हवाई अड्डे पर उनके साथ जो हुआ उससे पूरा देश वाकिफ है। इस घटना की खबर ब्रेकिंग न्यूज के तहत हर न्यूज चैनल पर फ्लैश की गयी। किंग खान का अपमान, शाहरुख ने की अमेरिका जाने से तौबा, सरीखी हेडलाइंस के बाद शाहरुख ने विभिन्न चैनलों को फोन पर अपने साथ हुए वाकिये के बारे में भी बताया। देखते ही देखते देश के तमाम सेलेब्स जिनमें शाहरुख के करीबी करण जौहर और फराह खान भी शामिल थे, उनके समर्थन में अपने-अपने बयान देने लगे। अगले दिन तक शाहरुख के साथ बदसलूकी का यह मुद्दा किसी राष्ट्रीय मुद्दे की तरह छा चुका था।

ऐसे में इधर, सलमान खान ने भी अपने बाइट देते हुए कहा, ‘शाहरुख के साथ ऐसा होना कोई बड़ी बात नहीं है। अमेरिका जाने वालों के साथ ऐसा होता रहता है। तभी तो वहां 9/11 के बाद कोई आतंकी हरकत नहीं हुई।’ इस बीच समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव और अमर सिंह ने भी कुछ करारे बयान दे डाले। खैर, इस घटना के बाद दो दिन बाद जब शाहरुख भारत लौटे तो उन्होंने तमाम बातों पर अपना पक्ष साफ करते हुए अपने खिलाफ बयान देने वालों को भी सांकेतिक रूप में आड़े हाथों लिया। 

जो भी हो, इस घटना से शाहरुख के गूगल सर्च में हजारों का इजाफा हो गया। आज उनके नाम के सर्च के साथ सबसे पहले अमेरिकी घटना के वेबपेज खुलते हैं। शाहरुख के बाद इरफान खान, अजरुन रामपाल, गुरदास मान, समीरा रेड्डी और अयान अली के साथ हुई बदसलूकी के किस्से भी सामने आये।

इस ताजा मामले से थोड़ा सा पीछे जाएंगे तो सनी देओल का मामला सामने आता है। जी हां, इस बार सनी देओल ने ढाई किलो का हाथ नहीं, बल्कि दो सौ करोड़ का मुक्का एक एफएम रेडियो पर मारा है। एक रेडियो स्टेशन पर जब सनी देओल को लेकर कॉमेडी की चाशनी में डूबी मिमिक्री की हद शालीनता से पार हो गयी तो सनी बरस पड़े। उन्होंने मुंबई में बाकायदा प्रेस कांफ्रेंस की और उक्त रेडियो स्टेशन पर मुकदमे के साथ मानहानि की फटकार मारी।

हालांकि बिग एफएम 92.7 ने इस बात से इंकार किया है कि उन्हें ऐसा कोई नोटिस मिला है। रेडियो और टीवी पर सितारों की मिमिक्री तो आम है। ऐसे में क्या सनी इस मुद्दे को लेकर ओवररियेक्ट नहीं कर रहे? सनी के एक करीबी सूत्र की मानें तो ऐसा नहीं है। सनी देओल पर काफी समय से मिमिक्री हो रही है। उन्होंने कभी ऐतराज नहीं किया। लेकिन इस बार हद पार हो गयी। कुछ दिनों पहले इमरान हाशमी ने मुंबई में एक सोसाइटी पर आरोप लगाया कि उन्हें वहां मकान इसलिए नहीं मिला, क्योंकि वह मुसलमान हैं। मामला अदालत में पहुंच गया। इसके बाद इमरान ने कहा कि उनके बयान को कुछ मीडिया वालों ने तोड़-मरोड़कर और बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया।

ज्यादा दूर न जाएं तो सितारों की सनसनी में सेलिना जेटली और संभावना सेठ का सामना हुआ बाबा रामदेव से। समलैंगिकों के समर्थन में बोलने पर सेलिना जेटली बाबा से भिड़ पड़ीं। ऐसे में बाबा के बयान के बाद संभावना सेठ ने भी बहती गंगा में हाथ धोने का काम किया और मामला एक चैनल की अदालत तक जा पहुंचा, जिसमें संभावना के साथ कश्मीरा शाह भी दिखाई दीं। बाबाओं को समाज का ठेकेदार कहकर सेलिना ने सनसनी मचाई तो संभावना ने राखी सावंत जैसी सुर्खियां पाने की कोशिश कीं।

ताजा खबर है कि कश्मीरा शाह सोनी के ‘इस जंगल से मुङो बचाओ’ शो में एंट्री कर रही हैं। तो अचानक कश्मीरा को इस शो में एंट्री कैसे मिली। आगे दर्शक खुद ज्यादा समझदार हैं। निर्देशक आशुतोष गोवारिकर भी पिछले दिनों प्रियंका चोपड़ा के बारे में टिप्पणी कर खासे चर्चित हुए। मगर क्यों? प्रियंका तो उनकी अगली फिल्म की  हेरोइन हैं। फिर उन्होंने ऐसा क्यों किया?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विवादों से सुर्खियां जुटाते सितारें