DA Image
29 मार्च, 2020|9:03|IST

अगली स्टोरी

राजधानी दिल्ली में जमकर बरसे बदरा

राजधानी में शुक्रवार की शाम हुई तेज तूफानी बारिश ने दिल्ली की रफ्तार को पूरी तरह से थाम दिया। 87 किलोमीटर प्रति घंटे की तेज हवाएं और सिर्फ एक घंटे में 74 मिलीमीटर बारिश से सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया।

बारिश के चलते दिन में ही रात जैसा अंधेरा हो गया। जगह-जगह जलभराव होने से कई जगहों पर सड़के धंस गईं और सैकड़ों वाहन फंस गए।  लोग घंटों तक जाम में फंसे रहे। तूफानी बारिश के दौरान बिजली के तीन प्लांट भी ठप हो गये। मूसलाधार बारिश से तापमान अचानक 13 डिग्री  सेल्सियस नीचे लुढ़क गया।

तूफानी हवाओं और मूसलाधार बारिश से रायसीना रोड पर सड़क 10 मीटर नीचे धंस गई। इसी तरह इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास टर्मिनल बिल्डिंग का एक हिस्सा ध्वस्त हो गया। पहाड़गंज इलाके से भी एक भवन के क्षतिग्रस्त होने की सूचना है।

शुक्रवार को अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 36.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। दोपहर बाद राजधानी में हल्की बारिश भी हुई। चार बजे के बाद पश्चिम की ओर से राजधानी में काली-काली घटाएं उठने लगीं और देखते ही देखते राजधानी में अंधेरा छा गया।

एक घंटे तक तेज हवाओं और मूसलाधार बारिश का दौर चलता रहा। इस तूफानी बरसात के चलते जो लोग जहां थे उन्होंने वहीं ठहरना उचित समझ। बारिश में भीगने वालों की तो कपकपी छूट गई। लोगों ने अपने घरों व कार्यालयों से इस तूफानी बरसात का नजारा लिया।

इधर अशोका होटल के पास जाम के कारण पुलिस आयुक्त वाई.एस. डडवाल भी करीब एक घंटे तक वाहनों के काफिले में फंसे रहे। जब उन्हें लगा की जाम खुलना आसान नहीं है तो वह अपने वाहन से उतर कर पैदल ही घर की तरफ चल पड़े और करीब 8.30 पर घर पहुंच

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:राजधानी दिल्ली में जमकर बरसे बदरा