DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टेस्ट क्रिकेट कभी खत्म नहीं होगा: मैक्कुलम

टेस्ट क्रिकेट कभी खत्म नहीं होगा: मैक्कुलम

न्यूजीलैंड के विकेटकीपर ब्रैंडन मैक्कुलम को नहीं लगता कि टवेंटी 20 प्रारूप की अप्रत्याशित सफलता टेस्ट क्रिकेट को खात्मे की ओर ले जा रही है और उनका मानना है कि टेस्ट क्रिकेट खेल का सर्वोच्च प्रारूप बना रहेगा।

मैक्कुलम का आक्रामक खेल टवेंटी 20 प्रारूप के लिए उपयुक्त है लेकिन उन्होंने कहा कि वह चोटी का टेस्ट बल्लेबाज बननाचाहते हैं और उन्हें नहीं लगता कि क्रिकेट का यह पारंपरिक प्रारूप मरणासन्न है। न्यूजीलैंड के इस उपकप्तान ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट अब भी मेरे लिए काफी विशेष है। मुझे नहीं लगता कि यह कभी समाप्त होगा।

मैक्कुलम ने कहा कि इसमें बदलाव आ सकता है लेकिन मुझे नहीं लगता कि यह समाप्त होगा। इसके साथ काफी इतिहास जुड़ा है, इसके काफी समर्थक हैं और काफी परंपरावादी हैं जो इसके लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं।

दोनों प्रारूपों की तुलना करते हुए मैकुलम ने कहा कि टी 20 एक ऐसा प्रारूप है जो खेल से अधिक लोगों को जोड़ता है जिससे कि क्रिकेट के प्रशंसकों की संख्या बढ़े। अगर हम ऐसा कर पाते हैं और इसमें से कुछ लोगों को टेस्ट क्रिकेट से जोड़ते हैं तो मुझे लगता है कि हम अपने काम को अंजाम दे देंगे।

मैकुलम ने कहा कि मैं यह कल्पना ही नहीं कर सकता कि टेस्ट क्रिकेट समाप्त हो रहा है। बेशक खिलाड़ियों की अपनीप्राथमिकता है और शायद युवा खिलाड़ी टवेंटी 20 को कुछ अधिक खेलना चाहते हैं लेकिन टेस्ट क्रिकेट फिर भी जीवित रहेगा क्योंकि यह खेल का सर्वोच्च प्रारूप है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टेस्ट क्रिकेट कभी खत्म नहीं होगा: मैक्कुलम