DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूखा क्षेत्रों में राहत पहुंचाए राज्य : पवार

सूखा क्षेत्रों में राहत पहुंचाए राज्य : पवार

कृषि मंत्री शरद पवार ने राज्य सरकारों से सूखा प्रभावित इलाकों में विशेषकर छोटे तथा सीमांत किसानों की मदद के लिए तत्काल कदम उठाने की अपील की है।

पवार ने कहा कि 10 राज्यों के 246 जिलों में सूखे की स्थिति विकट है। वह शुक्रवार को राज्यों के कृषि मंत्रियों की एक विशेष बैठक को संबोधित कर रहे थे। यह बैठक सूखे को ध्यान में रखते हुई बुलाई गयी थी।

पवार ने कहा कि राज्यों में कृषि विभागों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि इस कठिनाई में किसानों को सरकार का पूरा सहयोग मिले।

कृषि मंत्री ने कहा कि आगामी रबी की बुआई जल्दी की जा सकती है और रबी की पैदावार बढ़ायी जा सकती है, ताकि मौजूदा खरीफ उत्पादन में सूखे से होने वाले नुकसान की याथ संभव भरपाई की जा सके। उन्होंने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल के लिये गेहूं की बुआई पहले शुरू करने का मौका है।

कृषि मंत्री ने कहा कि इस बार धान की रोपाई में 15 फीसदी की कमी होने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि दलहन, बाजरा, चारा, सूर्यमुखी जैसी वैकल्पिक फसलों की खेती को बढ़ावा देने की इस समय बहुत जरूरत है। पवार ने कहा कि खड़ी फसलों को सूखे से बचाने के लिए तत्काल कदम उठाने की जरूरत है। हमें सावधानी के साथ रबी फसलों की बुआई करने की योजना बनानी चाहिए ताकि इस मौसम में हुए नुकसान की भरपाई की जा सके।

उन्होंने कहा कि केवल फसल की बुवाई कम रहने या फसलों को नुकसान होने की आशंका से स्थिति गंभीर नहीं है, बल्कि पशुओं के लिये चारे की कमी एवं विशेष रूप से छोटे, सीमांत तथा भूमिहीन श्रमिकों की आजीविका की समस्या को लेकर स्थिति चिंताजनक है।

पवार ने राज्यों से सूखे की स्थिति से निपटने के लिये राज्यों की राजधानी और जिला स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित करने को कहा। उन्होंने कहा कि सूखा प्रभावित आबादी के लिये हमे खाद्य पदार्थ, पेयजल, चारा और रोजगार की उपलब्धता सुनिश्चित करनी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूखा क्षेत्रों में राहत पहुंचाए राज्य : पवार