DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

असामाजिक तत्वों ने तिरंगे को जलाकर फेंका

जिले के तिहाड़ कलां गांव स्थित शमशान घाट में लगे तिरंगे को उतारकर कुछ असामाजिक तत्वों ने जलाकर फेंक दिया। यह तिरंगा गांव के ही एक निवासी सूबेदार की अंतेष्टि के बाद शमशान भूमि पर लगाया गया था। तिरंगा जला हुआ पाने के बाद मृतक सूबेदार के पिता पुलिस अधीक्षक से मिले और मामले की पूरी जानकारी दी। पुलिस अधीक्षक के हस्तक्षेप के बाद थाना सदर में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

तिहाड़ कलां गांव निवासी करण सिंह ने पुलिस अधीक्षक को दी शिकायत में बताया कि कुछ दिन पूर्व लखीमपुर, आसाम में कार्यरत उसके पुत्र सुबेदार नरेश की हृदयाघात से मौत हो गई थी। उसके पार्थिव शरीर का गांव के शमशान घाट में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया था।

उन्होंने बताया कि जिस तिरंगे में नरेश के शव को लाया गया था, अंतिम संस्कार के बाद उसे उसी जगह पर फहरा दिया गया था। जिससे यह पता लग सके कि यहां पर एक जवान का अंतिम संस्कार किया गया है। करण सिंह ने बताया कि उसके कुछ दिन बाद अज्ञात लोगों ने तिरंगे को उखाड़कर फेंक दिया। जिसके बाद उन्होंने उसे दोबारा से फहरा दिया। 

बाद में जब वे 1 अगस्त को शमशान घाट पर पहुंचे तो तिरंगा झंडा पूरी तरह से जला हुआ था। उसने पुलिस अधीक्षक से इस संबंध में आरोपियों का पता लगाकर उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। पुलिस ने करण सिंह की शिकायत पर जांच के बाद अज्ञात के खिलाफ धारा 297, 5क्4, प्रीवैंशन ऑफ इन्सल्ट टू नेशनल ऑनर एक्ट के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:असामाजिक तत्वों ने तिरंगे को जलाकर फेंका