DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केन्द्र बड़ा सूखा पैकेज दे- अजित सिंह

राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह ने कहा है कि यूपी में सूखे की भीषण स्थिति को देखते हुए राज्य के सभी दलों को मिलकर केन्द्र राहत के लिए बड़े पैकेज की माँग करनी चाहिए। उन्होंने मुख्यमंत्री मायावती से भी अपील की कि विपक्ष को साथ लेकर उन्हें केन्द्र को यह भरोसा भी दिलाना चाहिए कि राहत के नाम पर आने वाले पैसों का इस्तेमाल वह अपनी मूर्तियाँ लगवाने और पार्को के लोकार्पण-शिलान्यास पर नहीं करेंगी।

लखनऊ में गुरुवार को पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक से पहले मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा है कि यूपी के किसान सूखे से पहले ही जूझ रहे थे और अब कई जिलों में बाढ़ ने कहर ढा दिया है। ऐसे में यूपी को केन्द्र से तत्काल बड़ी मदद की जरूरत है। हालाँकि उन्होंने राज्य सरकार के काम करने के तौर-तरीकों पर भी सवाल उठाया।

सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री को सिर्फ मायामंत्र मालूम है। इसका जाप मुख्यमंत्री सचिवालय से लेकर थानों में तैनात पुलिस वाले तक कर रहे हैं। बिना पैसों के एफआईआर दर्ज नहीं हो रही। कानून व्यवस्था बिगड़ रही है और मुख्यमंत्री किसी बात की जिम्मेदारी नहीं लेना चाहतीं।

उन्होंने कहा कि विकास कार्यो के लिए कमिश्नर और कानून व्यवस्था के लिए आईजी-डीआईजी को जिम्मेदार ठहराने की तैयारी हास्यास्पद है। शासन से जुड़ी इन बातों की जिम्मेदारी पूरी व्यवस्था की होती है। जरूरत मौजूदा व्यवस्था को बदलने की है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में पूरी-पूरी तहसीलों के अधिग्रहण को उन्होंने आश्चर्यजनक बताया।

दादरी प्रोजेक्ट पर कोई टिप्पणी करने से उन्होंने यह कहते हुए इन्कार किया कि मामला अभी कोर्ट में है। जसवंत सिंह की किताब को लेकर भारतीय जनता पार्टी में मचे बवाल पर उन्होंने कहा कि देश के बँटवारे में जिन्ना की बहुत बड़ी भूमिका थी, लिहाजा इस मामले में उन्हें पाक-साफ बताना सरासर गलत है। चीनी के बढ़ते दामों को लिए उन्होंने केन्द्रीय मंत्री शरद पवार की गलत नीतियों को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि चीनी का निर्यात रोका जाना एक बड़ी भूल थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केन्द्र बड़ा सूखा पैकेज दे- अजित सिंह