DA Image
18 अप्रैल, 2021|2:59|IST

अगली स्टोरी

पार्टी आडवाणी के साथ, जसवंत के खिलाफ

पार्टी आडवाणी के साथ, जसवंत के खिलाफ

जसवंत सिंह को पार्टी से निष्कासित किए जाने के बाद पार्टी प्रवक्ता अरुण जेटली ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जसवंत की बात पार्टी की मूल विचारधारा के खिलाफ है। आडवाणी का उन्होंने बचाव करते हुए कहा कि आडवाणी ने पाकिस्तान में जो कुछ भी कहा था वह मात्र जिन्ना के भाषण का एक उद्धरण था।

जसवंत सिंह को पार्टी से निष्कासित किए जाने के बाद पार्टी प्रवक्ता अरुण जेटली ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि किसी के किताब लिखने पर पाबंदी नहीं है, लेकिन किताब में लिखी बात पर पाबंदी जरूर है।

उन्होंने कहा कि अगर कोई कुछ लिखता है तो उससे किसी को भी आपत्ति नहीं होनी चाहिए, लेकिन किताब में क्या लिखा है उससे मतलब जरूर होता है। उन्होंने कहा कि जसवंत सिंह ने जो कुछ भी लिखा है वह पार्टी के मूल विचारों के खिलाफ है।

उन्होंने कहा कि पार्टी जिन्ना को बंटवारे का दोषी मानती है और बल्लभ भाई पटेल को बंटवारे का दोषी मानना कतई भी स्वीकार नहीं है। उन्होंने कहा कि उन्होंने किताब में लिखा है कि भारत में मुस्लिम खुद को गैर मानते हैं, यह भी पार्टी को स्वीकार नहीं है।

उन्होंने कहा कि अगर पार्टी किसी व्यक्ति को पार्टी से निकालना चाहती है तो यह संसदीय बोर्ड पर निर्भर करता है कि वह इसके लिए नोटिस देना चाहता है या नहीं। उन्होंने कहा कि चिंतन बैठक जारी है और खत्म होने के बाद इसके बारे में विस्तृत जानकारी पार्टी अध्यक्ष देंगे।

उन्होंने आडवाणी का बचाव करते हुए कहा कि जो आडवाणी ने पाकिस्तान में कहा था वह जिन्ना के भाषण का एक उद्धरण था, जिसके द्वारा वह बताना चाहते थे कि आपके निर्माता इन विचारों को मानते थे और अभी आपके देश की क्या हालत है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:पार्टी आडवाणी के साथ, जसवंत के खिलाफ