DA Image
25 जनवरी, 2020|1:39|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अफगानिस्तान में आतंक के साए में मतदान

अफगानिस्तान में आतंक के साए में मतदान

अफगानिस्तान में हजारों मतदान केंद्रों पर देश के राष्ट्रपति पद के लिए मतदान शुरू हो गया। मतदान में लाखों लोगों के भाग लेने की उम्मीद की जा रही है।

हिंसा से बुरी तरह प्रभावित दक्षिण अफगानिस्तान में मतदान का प्रतिशत चुनावों की सफलता में सबसे अहम रहने वाला है। देश के दूसरे चुनावों के पूर्व तालिबान ने चुनावों को असफल करने और मतदान करने वालों को इसकी सजा भुगतने की चेतावनी जारी की है।

काबुल में एक मतदान केंद्र से लगभग 50 मीटर दूर खड़े अब्दुल रहमान ने बताया कि हां, हम मत देने जा रहे हैं। हम यहां खड़े होकर उन लोगों को देख रहे हैं तो मत देने जा रहे हैं। अगर मतदान केंद्र पर कोई खतरा पैदा होता है तो हम उससे दूर रहना चाहते हैं।

राजधानी काबुल के चारों ओर हेलीकॉप्टरों से निगरानी रखी जा रही है। पुलिस ने सुरक्षा के तहत कई अतिरिक्त चौकियां बनाई हैं। काबुल के पास एक कार में लगे लाउडस्पीकर से लोगों को मत देने के प्रति जागरुक किया जा रहा है। चुनाव के प्राथमिक परिणामों की घोषणा शनिवार को होना संभावित है।

अफगानिस्तान में पिछले तीन वर्षों से हिंसा की घटनाओं में खासी वृद्धि हुई है। अमेरिका ने पिछले आठ सालों में देश में लगभग 60,000 सैनिकों की तैनाती की है।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:अफगानिस्तान में आतंक के साए में मतदान