DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रॉपर्टी की उलझन

अकसर लोग होम लोन चुकाने को लेकर कई तरह की पसोपेश में रहते हैं। उदाहरण के तौर पर कई बार लोग सोचते हैं कि मेरे पास सरप्लस फंड है। वह सोचते हैं कि मैं इसे जारी रखना चाहता हूं और चाहता हूं कि ईएमआई की दर मेरे वर्तमान होम लोन पर बढ़ा दी जाए।

- आदर्श स्थिति यही होगी कि आप सस्ती दर पर होम लोन लेने की कोशिश करें। अगर आपके पास सरप्लस फंड है तो ईएमआई बढ़ाने के बजाए आप प्रिंसिपल का पार्ट प्रीमेंट करें। इससे आपका प्रिंसिपल अमाउंट कम हो जाएगा, जिससे आपका समय भी कम हो जाएगा। दूसरे शब्दों में कहें तो आपकी ब्याज दर भी कम होगी।

- ज्यादातर बड़े इंस्टीटच्यूशन पार्ट-प्रीमेंट के ऑप्शन में किसी भी तरह का शुल्क नहीं लेते हैं।

- इस दौर में प्रॉपर्टी बेचते समय आपको मनमाफिक दाम मिलने में मुश्किलें आ सकती है।

- खरीदार ये जानने की कोशिश करेगा कि आप किन हालात में प्रॉपर्टी बेच रहे हैं। अगर आप किसी मजबूरीवश प्रॉपर्टी बेच रहे हैं, तो खरीदार आपसे ज्यादा मोल-भाव करेगा।

- कीमत जानने के लिए आपको वास्तविकता के धरातल पर सोचना होगा। अपने क्षेत्र में प्रॉपर्टी के दाम क्या चल रहे हैं, इस बात की पड़ताल करें, उसके आधार पर ही प्रॉपर्टी बेचें।

- प्रॉपर्टी बेचने से पहले एक बार पोर्टल जरूर जांच लें। प्रॉपर्टी पोर्टल आपको कीमतों के बारे में सही जानकारी दे सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रॉपर्टी की उलझन