DA Image
26 जनवरी, 2020|7:48|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अवैध कॉलोनियों को हटाने के लिए रणनीति तैयार

अथॉरिटी के मास्टर प्लान को पलीता लगने के बाद आखिरकार अफसरों ने अवैध कॉलोनियों को ध्वस्त करने की रणनीति तैयार कर ली है। सोमवार से चलाये जाने वाले अतिक्रमण हटाओ अभियान के लिए लाव लश्कर तैयार किया जा रहा है।

अभियान पांच चरणों में चलाया जायेगा, किसानों की वास्तविक आबादियों को छेड़ा नहीं जायेगा और कॉलोनाइजरों को किसी भी हाल में बक्शा नहीं जायेगा। चिन्हित किये गये सात सौ लोगों को नोटिस भी जारी कर दिये गये हैं।

डीसीइओ शैलेन्द्र चौधरी के मुताबिक अतिक्रमण अभियान की रणनीति बनाने को लेकर एसीइओ सुधीर कुमा की अध्यक्षता में बैठक हुई जिसमें एस पी देहात एस के वर्मा समेत एसडीएम दादरी सौम्य श्रीवास्तव व गाजियाबाद के डीएसपी रामकिशोर समेत कई अफसर मौजूद थे।

अतिक्रमण हटाओ अभियान पांच चरणों में चलाया जायेगा। इसकी शुरूवात सोमवार को चक सावेरी, चक बुजुर्ग, चिपयाना खुर्द और हैबतपुर गांव से की जायेगी। गाजियाबाद की क्रासिंग रिपब्लिक प्रोजेक्ट से सटे इस गांव में देखते देखते दर्जनों कालोनियां अस्तित्व में आ गयीं हैं। दूसरे चरण में अभियान बिसरख, पतवाड़ी, इटैड़ा, तुस्याना और खेड़ा चौगानपुर गांव में चलाया जायेगा। तीसरे चरण में निशाने पर कुलेसरा सूरजपुर और देवला गांव की कॉलोनियां रहेंगी।

चौथे चरण में सैनी सुनपुरा बेदपुरा और भनौता गांव में अवैध मकान ध्वस्त किये जायेंगे जबकि पांचवे और अन्तिम चरण में डाढा डाबरा सिरसा घंघोला पाली लढपुरा और शाकीपुर गांव में अफसर अवैध मकानों को गिरायेंगे।

अथारिटी समेत जिला प्रशासन व पुलिस के कई अफसर मौके पर मौजूद रहेंगे। दस बुल्डोजर, तीन कम्पनी पीएसी, गाजियाबाद और बुलन्दशहर जनपदों से भी पुलिस बुलाई गयी है। महिलाओं के विरोध की आशंका के चलते महिला पुलिस, एम्बुलेंस और डाक्टरों की भी व्यवस्था की गयी है। अभियान की तैयारियों की जानकारी से कालोनाइजरों के होश उड़े हुए हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:अवैध कॉलोनियों को हटाने के लिए रणनीति तैयार