DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार पुलिस के लिए केन्द्र खरीदेगा हथियार और वाहन

बिहार पुलिस के लिए अब केन्द्र के मार्फत ही शस्त्र और विशेष तरह के वाहनों की खरीद होगी। राज्य सरकार के इस आग्रह पर केन्द्र ने अपनी सहमति जता दी है। पुलिस आधुनिकीकरण के तहत हथियारों और वाहनों की खरीद में तकनीकी कठिनाइयों के मद्देनजर राज्य सरकार ने केन्द्र से आग्रह किया था कि शस्त्र, विशेष तरह के वाहन और आवश्यक उपकरणों के लिए राशि उपलब्ध कराने की बजाय वह राज्य को साजो-सामान ही उपलब्ध करा दे।

राज्य सरकार के इस प्रस्ताव पर केन्द्र ने सकारात्मक प्रतिक्रिया व्यक्त की है। हालांकि केन्द्र द्वारा खरीद किए गए शस्त्रों, वाहनों और उपकरणों की गुणवत्ता को राज्य सरकार अपने स्तर पर भी परखेगी। आंतरिक सुरक्षा के मुद्दे पर प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में मुख्यमंत्रियों की बैठक के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह मसला उठाया था। पुलिस आधुनिकीकरण के तहत हर साल लगभग 102 करोड़ रुपए के साजो सामान की खरीद का प्रस्ताव केन्द्र को भेजा जाता है।

इसमें मुख्य रूप से अत्याधुनिक हथियार, एंटी लैण्ड माइन गाड़ियां, विशेष शाखा के लिए कई तरह के गजेट और दूसरे उपकरण की खरीद का प्रस्ताव होता है। कई उपकरणों का आयात विदेशों से भी करना होता है। राज्य सरकार के सामने लंबे समय से यह समस्या रही है कि साजो सामान की खरीद के लिए आपूर्तिकर्ता कंपनियां टेंडर नहीं लेतीं। इसकी एक वजह यह भी रही है कि राज्य के वाणिज्यकर विभाग के नियमों के तहत संबंधित कंपनी का बिहार में रजिस्टर्ड होना जरूरी है। लेकिन कंपनियां इसमें दिलचस्पी नहीं दिखाती और मामला लटका रहता है।

इस अड़चन को दूर करने के लिए ही राज्य सरकार ने केन्द्र से शस्त्र और वाहनों की खरीद का अनुरोध किया है। खरीद के लिए केन्द्र सरकार में केन्द्रीय क्रय समिति का गठन किया जाएगा। दूसरी ओर सूत्रों की मानें तो केन्द्र के मार्फत शस्त्र, वाहन और उपकरणों की खरीद होने पर राज्य सरकार को हर साल लाखों रुपए के टैक्स से हाथ धोना पड़ेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार पुलिस के लिए केन्द्र खरीदेगा हथियार और वाहन