DA Image
22 जनवरी, 2020|5:00|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मालदीव के साथ रक्षा समझौता करेगा भारत

मालदीव के साथ रक्षा समझौता करेगा भारत

मालदीव द्वारा उसके एक द्वीप रिजार्ट पर सैन्य सपंत्ति के अभाव में आतंकवादियों के कब्जा जमाये जाने की आशंकाओं के बीच रक्षा मंत्री एके एंटनी की वहां की तीन दिवसीय यात्रा के दौरान भारत उस देश के साथ एक रक्षा समझौते पर हस्ताक्षर करेगा।

इस समझौते के तहत भारत मालदीव को ग्राउंड रडार का नेटवर्क स्थापित करने में मदद देगा और उनका संबंध भारतीय तटरक्षक कमान से जोड़ा जायेगा। भारतीय नौसेना और तटरक्षक बल के युद्धपोत मालदीव के जलदस्यु प्रभावित जलसीमाओं में गश्त करेंगे और इसे आतंकी खतरों से सुरक्षा दिलायेंगे। यह प्रबंध मालदीव द्वारा आतंकी खतरे के बारे में भारत ते समक्ष जतायी चिंता के बाद किया जा रहा है।

उच्च स्तरीय शिष्टमंडल का नेतृत्व करने वाले एंटनी मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद से मुलाकात के अलावा सरकारी नेताओं एवं सेना के शीर्ष अधिकारियों से विचार-विमर्श करेंगे। रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि एंटनी दोनों देशों के बीच सैन्य सहयोग बढ़ाने के प्रयासों के तहत मालदीव में अपने समकक्ष अमीन फैजल से भी विचार-विमर्श करेंगे।

रक्षा मंत्री के शिष्टमंडल में रक्षा सचिव प्रदीप कुमार, सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा के महानिदेशक लेफ्टीनेंट जनरल एके परमार, तटरक्षक महानिदेशक अनिल चोपड़ा और डिप्टी चीफ ऑफ नेवी स्टाफ वाइस एडमिरल डीके जोशी शामिल होंगे।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:मालदीव के साथ रक्षा समझौता करेगा भारत