DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार में फोर लेन संबंधी प्रस्तावों पर पुनर्विचार करे केन्द्र सरकार

बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड(जदयू) के विधायक और हम दलित संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा.आर.आर. के नौजिया ने राज्य में फोर लेन सड़क बनाने संबंधी नीतीश सरकार के प्रस्तावों को नामंजूर करने के केन्द्र के फैसले का विरोध करते हुए देश और प्रदेश के विकास के लिए प्रस्तावों पर पुन: विचार की मांग की है।


डा. कनौजिया ने कहा कि बिहार सरकार राज्य के सभी राष्ट्रीय राजमार्गों को फोर लेन बनाने के लिए केन्द्र को निरंतर प्रस्ताव भेजती रही है। एन.एच.डी.पी 1और एन.एच.डी.पी 2 परियोजना के तहत केन्द्र सरकार 799 किलोमीटर राष्ट्रीय उच्च पथों को फोर लेन बना भी रही है लेकिन एन.एच.डी.पी 3 के तहत राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना के तहत चयनित 1015 किलोमीटर राष्ट्रीय उच्च पथों को फोर लेन में बदलने के प्रस्ताव को नामंजूर किया जाना काफी आश्चर्यजनक है।


डा. कनौजिया ने कहा कि प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह देश के जाने माने अर्थशास्त्री भी है और राज्यों के विकास के लिए बिजली सिंचाई एवं सड़कों के विकास पर हमेशा बल देते रहे हैं। इसके बावजूद फोर लेन संबंधी राज्य के प्रस्तावों को नामंजूर किया जाना केन्द्र सरकार की विरोधाभासी नीति को परिलक्षित करता है।


उन्होंने बताया कि इस संबंध में प्रधानमंत्री को एक पत्र भी लिखा है जिसमें राज्य के प्रस्तावित राष्ट्रीय उच्च पथों का विस्तृत ब्यौरा देते हुए प्रदेश में उद्योग धंधों के तीव्र विकास की दृष्टि से इन्हें फोर लेने में परिवर्तित किया जाना आवश्यक बताया है। उन्होंने आशा जताई कि केन्द्र इन प्रस्तावों पर पुनर्विचार कर सकारात्मक निर्णय लेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फोर लेन संबंधी प्रस्तावों पर पुनर्विचार करे केन्द्र सरकार