DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हड़ताल से मणिपुर में बेहाल हुआ जनजीवन

हड़ताल से मणिपुर में बेहाल हुआ जनजीवन

मणिपुर में जारी 36 घंटे की हड़ताल के दूसरे दिन भी आम जनजीवन अस्त-व्यस्त है। राज्य में परिवहन सेवाएं भी ठप पड़ी हैं। प्रमुख सामाजिक संगठन अपुंबा लुप (एएल) की ओर से मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह के इस्तीफे की मांग को लेकर बुलाई गई हड़ताल की वजह से बुधवार को भी बाजार, दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे।

गौरतलब है कि 23 जुलाई को पुलिस कमांडो द्वारा मुठभेड़ में मारे गए एक नौजवान के मामले में नैतिक आधार पर मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग की जा रही है। खबरों में कहा गया है कि मणिपुर के अलावा पड़ोसी राज्यों के बीच जारी परिवहन सेवाओं को भी सुरक्षा कारणों से रद्द कर दिया गया है।

सरकारी दफ्तरों में भी कर्मचारियों की उपस्थिति नगण्य रही। सरकारी सूत्रों ने बताया कि किसी अनहोनी पर लगाम लगाने के लिहाज से राजधानी के कई प्रमुख प्रतिष्ठानों पर भारी तादाद में सुरक्षा बलों की तैनाती की गयी है। एएल कथित मुठभेड़ में शामिल रहे पुलिस कमांडो की बर्खास्तगी की मांग पर भी अड़ा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हड़ताल से मणिपुर में बेहाल हुआ जनजीवन