DA Image
14 अप्रैल, 2021|4:05|IST

अगली स्टोरी

हड़ताल से मणिपुर में बेहाल हुआ जनजीवन

हड़ताल से मणिपुर में बेहाल हुआ जनजीवन

मणिपुर में जारी 36 घंटे की हड़ताल के दूसरे दिन भी आम जनजीवन अस्त-व्यस्त है। राज्य में परिवहन सेवाएं भी ठप पड़ी हैं। प्रमुख सामाजिक संगठन अपुंबा लुप (एएल) की ओर से मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह के इस्तीफे की मांग को लेकर बुलाई गई हड़ताल की वजह से बुधवार को भी बाजार, दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे।

गौरतलब है कि 23 जुलाई को पुलिस कमांडो द्वारा मुठभेड़ में मारे गए एक नौजवान के मामले में नैतिक आधार पर मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग की जा रही है। खबरों में कहा गया है कि मणिपुर के अलावा पड़ोसी राज्यों के बीच जारी परिवहन सेवाओं को भी सुरक्षा कारणों से रद्द कर दिया गया है।

सरकारी दफ्तरों में भी कर्मचारियों की उपस्थिति नगण्य रही। सरकारी सूत्रों ने बताया कि किसी अनहोनी पर लगाम लगाने के लिहाज से राजधानी के कई प्रमुख प्रतिष्ठानों पर भारी तादाद में सुरक्षा बलों की तैनाती की गयी है। एएल कथित मुठभेड़ में शामिल रहे पुलिस कमांडो की बर्खास्तगी की मांग पर भी अड़ा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:हड़ताल से मणिपुर में बेहाल हुआ जनजीवन