DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जलाकर मारने के आरोपी को उम्रकैद

छोटे भाई को जलाकर मारने के आरोपी युवक को अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। एडिशनल सेशन जज जे आर आर्यन की अदालत ने इस मामले में मनोज कुमार को अपने सगे भाई की हत्या का दोषी ठहराते हुए कहा कि ‘बेशक मुजरिम ने अपने भाई की हत्या महज आपसी विवाद के चलते कर दी। परन्तु इस अपराध को दुलर्भ से दुर्लभत्तम की श्रेणी में रखना उचित नहीं है। लिहाजा अदालत दोषी को आजीवन कारावास की सजा सुनाती है।’ वहीं अदालत ने अभियुक्त के ससुर ब्रहम सिंह को साक्ष्यों अभाव में बरी कर दिया है।

पेश मामले के अनुसार मनोज का अपने भाई विरेन्द्र पाल से घर के बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा था। इसी बात को लेकर 19 दिसम्बर 2004 की सुबह मनोज ने अपने छोटे भाई पर उस समय एसिड डाल दिया, जब वह बाथरुम था। जली अवस्था में विरेन्द्र को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

घटना के छ: दिन बाद विरेन्द्र की वहां मौत हो गई। मरने से पहले पीड़ित ने अपने भाई पर जलाने का आरोप लगाते हुए बयान दर्ज कराए थे। अदालत ने पीड़ित के मृत्युपूर्व दिए गए बयानों को अहम मानते हुए मनोज को सजा सुनाई है।
 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जलाकर मारने के आरोपी को उम्रकैद