DA Image
28 फरवरी, 2020|5:36|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब सूखे का जायजा लेने बुधवार को पहुंचेगा केन्द्रीय दल, जनप्रतिनिधियों के लिए चंद समय की होगी उपलब्धता

सूखे के हालात जानने केन्द्र सरकार की चार सदस्यीय टीम अब बुधवार की शाम यहां पहुंचेगी। इस टीम को मंगलवार को ही यहां पहुंचना था। प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार टीम को आगरा होते हुए चित्रकूट पहुंचना था। इसके बाद वाराणसी आना था। टीम हेलीकाप्टर से दौरा कर रही है। आगरा में मौसम खराब होने की वजह से कार्यक्रम परिवर्तित हो गया। सूखे का जायजा लेने के लिए केन्द्र ने चार सदस्यीय टीम बनायी है, जिसमें संयुक्त सचिव (कृषि मंत्रलय) संजीव गुप्त, डॉ. वीरेन्द्र सिंह, अमरिन्दर कुमार सिंह तथा वीके चौरसिया शामिल हैं।

तय कार्यक्रम के मुताबिक बुधवार की शाम पहुंचने के बाद केन्द्रीय टीम के सदस्य श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा-पाठ व सारनाथ भ्रमण में ही अपना समय व्यतीत करेंगे। रात 8.30 बजे स्थानीय अफसरों के साथ बैठक करेंगे और इसके पश्चात जनप्रतिनधियों से सूखे की जानकारी लेंगे। अगले दिन उन्हें मऊ रवाना होना है। टीम के इस दौरे पर कुछ जनप्रतिनधि सवाल भी उठाने लगे हैं। उनका कहना है कि टीम के लोग चंद घंटे ही यहां रहेंगे तो जायजा कैसे लेंगे और उन्हें मुकम्मल जानकारी कैसे दी जा सकेगी।

मऊ जाते समय हवाई सर्वे जरूर कर सकते हैं, पर हकीकत तो तब सामने आएगी, जब वे गांवों का दौरा करेंगे। जिले के काशी विद्यापीठ, हरहुआ, चोलापुर, चिरईगांव, पिंडरा, बड़ागांव समेत सभी आठ ब्लाकों में सूखे की हालत गंभीर है। कुछ दिनों से मौसम ने जरूर राहत दी है, पर खेती के लिए अब समय ही नहीं बचा है। सरकार की ओर से राहत के लिए होने वाले उपाय अभी तक कागजों से जमीन पर नहीं उतर सके।

प्रोटोकाल आफिस के अनुसार केन्द्रीय टीम की बैठक में भाग लेने के लिए प्रदेश शासन से नियुक्त नोडल अफसर अजय सिंह (विशेष सचिव) आएंगे। टीम के सदस्य सर्किट हाउस में प्रवास करेंगे और वहीं प्रशासनिक अफसरों व जनप्रतिनधियों के साथ बैठक कर अब तक की स्थिति जानेंगे। प्रमुख सचिव राजस्व गोविन्द नायर ने निर्देश दिया है कि केन्द्रीय टीम के भ्रमण की वीडियो रिकार्डिग व फोटोग्राफी करायी जाए। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:सूखे के हालात जानने निकली टीम का कार्यक्रम बदला