DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब किसानों को मिलेगा सस्ता डीजल व स्प्रिंकलर

खरीफ की फसलों को बचाने के लिए सूखा प्रभावित किसानों को सस्ते डीजल के अलावा स्प्रिंकलर भी मिलेगा। सिंचाई संवहन पाइप भी मिलेगी। दलहन और तिलहन के मिनी किट वितरित होंगे। यह अनुदान सीमांत और लघु किसानों को मिलेगा। प्रदेश सरकार के निर्देश पर कृषि विभाग ने इसकी विस्तृत कार्ययोजना तैयार की है।
कृषि विभाग के आंकड़ों के मुताबिक किसानों के पास 6995 डीजल इंजन हैं।

इससे सिंचाई के लिए 17 लाख 81 हजार 376 लीटर डीजल की जरूरत पड़ेगी। शासन ने 48 लीटर प्रति हेक्टेयर के हिसाब से डीजल पर 15 रुपये अनुदान देने का निर्णय लिया है। इस डीजल से तीन बार सिंचाई की जा सकेगी। डीजल अनुदान के लिए शासन से 267.21 लाख रुपये की डिमांड की गई है। जिले के दो हजार किसानों को स्प्रिंकलर सेट मुहैया कराया जाएगा।

इसमें 1300 लघु एवं सीमांत और 700 सामान्य किसान शामिल हैं। इस तरह कुल दो हजार किसानों को अनुदानित मूल्य पर स्प्रिंकलर सेट मुहैया कराया जाएगा। स्प्रिंकलर से पंपसेट के जरिये कम पानी में खेत की सिंचाई की जा सकती है। इसके लिए शासन से 781.25 लाख रुपये मांगा गया है। सूखा प्रभावित एक हजार किसानों को सिंचाई संवहन पाइप भी दी जाएगी। इस पर 30 हजार रुपये अनुदान है।

इसके लिए शासन से 300 लाख रुपये मांगे गए हैं। इस तरह कृषि विभाग ने कुल 13 करोड़ 38 लाख 46 हजार रुपये की कार्ययोजना तैयार की है। इसी तरह तिलहन के 10 हजार और दलहन के 10 हजार मिनी किट की मांग की गई है। जिला कृषि अधिकारी अशोक उपाध्याय ने बताया कि जिले में कुल सिंचित क्षेत्रफल 80006 हेक्टेयर है। इसमें नहरों से 12.57 प्रतिशत, राजकीय नलकूपों से 25.90 प्रतिशत, निजी नलकूपों से 61.07 प्रतिशत सिंचाई होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब किसानों को मिलेगा सस्ता डीजल व स्प्रिंकलर