DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भूमाफियाओं के गोरखधंधे में सरकारी नूमाइंदे भी शामिल

ग्रेटर नोएडा में जमीनों के आसमान छूते भावों को देखते हुए भूमाफियाओं में ग्राम समाज की जमीन कब्जाने की होड़ मची है। शिकायतों के बावजूद ऐसे लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है। जमीन के छोटे-छोटे टुकड़ों की कीमत लाखों में पहुंच गई है। उधर महंगाई को देखते हुए भूमाफियाओं की नजर खाली पड़ी जमीनों पर पड़ी, जिन पर कब्जा कर फर्जी कागजातों के सहारे बाहरी लोगों को बेच मोटा पैसा कमा रहे हैं।

मुफ्त की जमीन को हथियाने की होड़ इस कदर मची है कि भूमाफिया आपस में मरने-मारने को उतारू हो गए है। बताते है कि लाखों करोड़ों की जमीन को पाने के लिए भूमाफिया पहले सरकारी नूमाइंदो से मिल जाते हैं, इसका फायदा यह होता है कि इस गोरखधंधे की अगर कोई शिकायत करता है तो उस पर ध्यान देने की बजाय उस शिकायत को ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है।

एक तरफ गरीब लोगों को अपनी झोपड़ियां डालने के लिए भी जगह नहीं मिल रही है, वहीं दबंग भूमाफिया सरकार की करोड़ों रुपए की जमीन को कब्जाए बैठे हैं। इस बारे में उपजिलाधिकारी जेवर शैलेन्द्र सिंह का कहना है कि ग्राम समाज की जमीनों को कब्जा मुक्त कराने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। शिकायतें मिलने के बाद उन पर प्रभावी कार्रवाई भी की जा रही है। किसी भूमाफिया को बख्शा नहीं जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ग्राम समाज की जमीन कब्जने की होड़