DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रकृति ने दे रखा है स्वाइन फ्लू का उपचार

पतंजलि योग पीठ का दावा है कि गिलोय की डंडियों को तुलसी के साथ रात भर भिगोकर सुबह उबालकर पीने से स्वाइन फ्लू के संक्रमण से बचा जा सकता है। स्वाइन फ्लू के शिकार मरीज भी इससे ठीक हो सकते हैं। योग पीठ के दावे को देखते हुए सेक्टर-26 स्थित पतंजलि योग पीठ में लोगों की भीड़ गिलोय की डंडियों व गोलियों को लेने के लिए बढ़ती जा रही है।

विशेषज्ञों के अनुसार होम्योपैथ में भी स्वाइन फ्लू के लिए इन्फ्लूएंजम-200 और प्राकृतिक चिकित्सा में तुलसी, दालचीनी और काली मिर्च का घोल बनाकर पीना लाभदायक बताया गया है। जिला पतंजलि योग समित, गौतमबुद्ध नगर के जिलाध्यक्ष एस.के.कंसल ने बताया कि गिलोय के उपयोग के लिए लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। यह जांचा परखा तरीका है, जिससे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। कंसल ने कहा कि गिलोय की डंडियों को तुलसी की पत्तियों के साथ भिगोकर रख दें और सुबह उबाल कर इसे पी लें। इससे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और स्वाइन फ्लू व अन्य संक्रामक बीमारियां दूर होती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रकृति ने दे रखा है स्वाइन फ्लू का उपचार