DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाढ़ और सुखाड़ पर राजद ने खोला मोर्चा

राजद ने बाढ़ और सुखाड़ के मसले पर राज्य सरकार को पूरी तरह नाकारा बताते हुए उसके खिलाफ संसद से सड़क तक मोर्चा खोलने का ऐलान किया है। पार्टी के किसान प्रकोष्ठ ने सोमवार को आर. ब्लॉक पर धरने के साथ आंदोलन की शुरूआत की। धरना राज्य के सभी जिलों को अकाल क्षेत्र घोषित करने, बाढ़ प्रभावित जिलों में राहत कार्य चलाने और फसलों की क्षतिपूर्ति का मुआवजा देने की मांग को लेकर आयोजित किया गया था। इसकी अध्यक्षता राजद किसान प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मुद्रिका सिंह यादव ने की।


 धरनास्थल पर आयोजित सभा में राजद नेताओं ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सिर्फ घोषणाएं करते हैं। किसानों की समस्याओं से उन्हें कोई लेना-देना नहीं है। वर्षा के अभाव में खेत में रोपनी नहीं हो सकी है। किसानों को रात में बिजली सिर्फ कागजों पर ही मिल रही है। उन्होंने कहा कि जहानाबाद के रत्तु बिगहा के दलित परिवार के तीन लोगों की भूख से मृत्यु हो गई है लेकिन सरकार कान में तेल डालकर पड़ी हुई है। सहरसा में एक और नालंदा में भी दो व्यक्तियों की मौत हो चुकी है।

मुख्यमंत्री को इतनी भी फुर्सत नहीं हैं कि वे मृतकों के परिवार को सांत्वना देने के लिए जाएं। पूरे सूबे में कहीं कोई राहत कार्य नहीं चल रहा है। प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मुन्द्रिका सिंह यादव ने कहा कि नीतीश सरकार सिर्फ दलित प्रेम का नाटक कर रही है। उनके शासनकाल में दलितों की हालत और भी खराब हो गई है। सभा को शोभाकांत मंडल, कृष्ष्णनंदन प्रसाद वर्मा, मो. निहालउद्दीन, देवमुनि सिंह यादव, कृष्ण कुमार और गोपाल प्रसाद वर्मा आदि ने संबोधित किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बाढ़ और सुखाड़ पर राजद ने खोला मोर्चा