DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाईकोर्ट बैंच की मांग को लेकर वकीलों का काम बंद

वेस्ट यूपी में हाईकोर्ट बैंच की मांग को लेकर वकीलो ने अपना आंदोलन तेज कर दिया है। तीन दिन की छुट्टी के बाद सोमवार को जैसे ही कचहरी खुली तो वकीलों ने बैंच की मांग को लेकर काम बंद कर दिया। तहसील में भी इसको लेकर पूरी तरह बंद रहा।


हाईकोर्ट बैंच की मांग को लेकर गाजियाबाद के वरिष्ठ अधिवक्ता रामशरण शर्मा ने संसद की दर्शक दीर्घा से नारेबाजी की थी। इसके बाद से ही वकीलों का आंदोलन स्पीड पकड़ गया है। वकीलों ने अपने आंदोलन से आम लोगों को भी जोड़ने की कवायद शुरू कर दी है। सोमवार को बार एसोसिएशन के फरमान पर जिले भर के वकीलों ने हड़ताल रखी। बार अध्यक्ष शिवदत्त त्यागी और सचिव लोकेश शर्मा के नेतृत्व में वकीलों ने कचहरी में कामकाज नहीं किया और हाईकोर्ट बैंच को जरूरी बताया। इसको लेकर तहसील में भी पूरी तरह से हड़ताल रही। इस दौरान तहसील में सारा न्यायिक व दस्तावेज लेखक कार्य से विरत रहे।

तहसील कंपाउंड संघ ने सभा कर वेस्ट यूपी में हाईकोर्ट बैंच को जरूरी बताया। सब रजिस्ट्रार कार्यालय के बाहर धरना देते हुए संघ के उपाध्यक्ष रामानंद गोयल ने कहा कि इलाहाबाद जाने में वेस्ट यूपी के लोगों का शोषण हो रहा है। इसलिए हाईकोर्ट बैंच बहुत जरूरी है। केंद्रीय राज्य मंत्री सचिन पायलट के हाईकोर्ट बैंच निर्माण पर बयान का सभी ने स्वागत किया। धरने पर संघ के अध्यक्ष वेदपाल सिंह कुशवाह, सचिव संजीव शिशोदिया, पंकज शर्मा, राजकुमार भारती, मुनेश त्यागी, राकेश वशिष्ठ, प्रकाश चंद, लोमेश भाटी, योगेंद्र वीरभान, बीके सिंह, विनोद त्यागी, ब्रजभूषण, वीरेंद्रपाल सिंह, टीआर निमेश, जयकुमार शर्मा, कमल सिंह, अशोक वर्मा, सुशील चौधरी, दिगंबर त्यागी आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हाईकोर्ट बैंच की मांग को लेकर वकीलों का काम बंद