DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चंद्रमा ने पूछा शुक्र से, हाल कैसा है जनाब का

नक्षत्रों के दीवानों के लिए आज तड़के आसमान में बेहद खूबसूरत नजारा था जब पूर्वी हिस्से में शुक्र और चंद्रमा संयुग्मन (कान्जूगेशन) के लिए एक दूसरे के बेहद करीब आ गए। ऐसा लग रहा था मानो पृथ्वी का इकलौता उपग्रह चंद्रमा प्रेम के प्रतीक शुक्र की खैरियत पूछने उसके करीब आ गया।

साइंस पापुलराइजेशन एसोसिएशन आफ कम्युनिकेटर्स एंड एजुकेटर्स (एसपीएसीई) के निदेशक सी. बी. देवगन ने बताया कि यह नजारा तड़के दिखाई दिया। उन्होंने बताया कि देखते ही देखते प्रेम का प्रतीक कहलाने वाले शुक्र के उपर चंद्रमा आ गया। चंद्रमा अर्धचंद्राकार था।

खगोलशास्त्र में आकाशीय ग्रृहों की आपेक्षिक स्थिति के लिए संयुग्मन शब्द का इस्तेमाल किया जता है। मून वीनस कान्जूगेशन में आसमान में दो आकाशीय ग्रह एक दूसरे से लगभग मिलते हुए नजर आएंगे।

देवगन ने बताया कि खगोल शास्त्र में दिलचस्पी रखने वाले कुछ लोगों ने शुक्र और चंद्रमा का संयुग्मन खुली आंखों से देखा जबकि कुछ लोगों ने सुबह करीब चार बजे उत्तरपूर्वी क्षितिज पर दूरबीन से इस नजरे का आनंद लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चंद्रमा ने पूछा शुक्र से, हाल कैसा है जनाब का