DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रुके बरसाती पानी से डेंगू व मलेरिया की खतरा

गत तीन दिनों से हो रही बारिश से साइबर सिटी में जगह-जगह जलजमाव हो गया है। इस वजह से ठहरे हुए पानी में डेंगू व मलेरिया फैलाने वाले एडीज व मादा एनाफ्लीज मच्छर के पनपने का खतरा बढ़ गया है। जबकि शहरवासी पहले ही स्वाइन फ्लू की दशहत में जी रहे हैं। उधर, स्वास्थ्य विभाग अन्य विभागों को इसके लिए जिम्मेवार ठहरा रहा है। 

इन दिनों साइबर सिटी का चाहे पॉश एरिया हो, सेक्टर, पुराने गुड़गांव की कॉलोनियां या फिर गली-मोहल्ले। हर जगह बरसाती पानी इकट्ठा हो गया है। इससे यातायात तो प्रभावित हो ही रहा है। साथ ही बरसाती पानी में एडीज व मादा एनाफ्लीज मच्छर को पनपने का उपयुक्त स्थान मिल गया है। उधर, शहर में हो रहे जलजमाव की जिम्मेवारी संबंधित विभाग एक-दूसरे विभाग पर थोप रहे हैं।

स्वास्थ्य अधिकारियों की मानें तो शहर में जगह-जगह बरसाती पानी इकट्ठा होने से मच्छरजनित बीमारियों का खतरा बन गया है। मगर, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग उत्तरदायी नहीं है। बल्कि संबंधित विभाग को शहर में बरसाती पानी की निकासी का उचित प्रबंधन करना चाहिए। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. कृष्ण कुमार कहते हैं कि क्योंकि डेंगू व मलेरिया फैलाने वाले मच्छर साफ ठहरे हुए पानी में पनपते हैं।

ऐसे में शहर में जगह-जगह रुका बरसाती पानी डेंगू व मलेरिया फैलाने वाले मच्छरों के प्रजनन के लिए उपयुक्त स्थान साबित हो सकता है। लोगों को भी इस बात का ध्यान रखना होगा कि अपने घरों के आसपास साफ रुका हुआ पानी इकट्ठा न होने दें। उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य विभाग ने इस साल अब तक शहर में डेंगू के एक मामले की पुष्टि की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रुके बरसाती पानी से डेंगू व मलेरिया की खतरा