DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महानता के मुगालते

हम मानते हैं। वर्तमान और भूतपूर्व प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति जैसी कुछ बड़ी हस्तियां देश के सम्मान की संवाहक हैं। अगर इनका कहीं अपमान हो तो मुल्क की इज्जत मिट्टी में मिलती है। इसीलिए, जरूरी है कि इन दोनों में से कोई कहीं जाए तो पूरे लाव-लश्कर के साथ, अलग जहाज से जाए। अपनी इज्जत, अपने हाथ। कोई भरोसा नहीं कि सामान्य कमर्शियल फ्लाइट में, कब कौन सिरफिरा, किसी विशिष्ट व्यक्ति से बदसलूकी कर दे। ऐसे बदमुजन्ना को सजा तो, खैर, मिलनी ही मिलनी है। पर इससे क्या? देश की नाक, एक बारगी कटी, तो कट गई। मुल्क कोई माइकल जैक्सन तो है नहीं कि जब मन किया प्लास्टिक-सजर्री से एक कटवाई और दूसरी लगवा ली। अपना तो ख्याल है कि राष्ट्र की नाक ऐसी-वैसी नहीं है कि कोई भी ऐरा-गैरा या खास सर्जन उससे छेड़-छाड़ कर सके। हमें अफसोस है। दूसरे देशों की एयरलाइन्स हमारे राष्ट्रीय-सम्मान के प्रतीक व्यक्तियों के जूते और कपड़े उतरवाती हैं। क्या उन्हें पता नहीं है कि यह हमारे मुल्क को पूरे विश्व में नंगा करने की साजिश है? मुमकिन है कि उनके यहां नंगई फैशन का तकाजा हो, पर हमने अभी तक लाज-शर्म को पूरी तरह तिलांजलि नहीं दी है। यों तो पश्चिम से हम रहन-सहन, भाषा, हाव-भाव, कपड़े-लत्ते, साहित्य-विचार वगैरह काफी आयात करते रहे हैं, पर दुख है। नंगई की संस्कृति सीमित मात्र में ही आ पाई है। इसे कस्टम वाले रोकें न रोंके पर गई-गुजरी, किंतु आज भी प्रचलित सामाजिक मान्यताएं, इसके आड़े आ जाती हैं। भारतीय व्यवस्था में दिक्कत है कि कुरसी वालों को तो जहाज आदि चुटकी बजाते उपलब्ध हैं पर जो भूत हुआ, वह सामान्य यात्री के समान होता है। विदेश जाए तो कैसे? बेचारा मन मसोस कर रह जाता है। निमंत्रण तक नहीं आता है, कहीं बाहर से। एकाध अपवाद तो हर नियम के हैं। अपने कलाम साहब इसी श्रेणी के हैं। उनकी ख्याति है। दुनिया भर से सादर आमंत्रित किए जाते हैं। हालिया वाकए में, एक विदेशी एयरलाइंस ने न सिर्फ तलाशी ली, उनके जूते तक उतरवा लिए। उन्होंने न शिकायत की, न शोर मचाया। आम यात्री की तरह सब कुछ सहा, जैसे आम और खास में कोई फर्क ही नहीं है। एक जन जुगाड़ हमें ज्ञान देते हैं- ‘अपन तो इसीलिए कहते हैं कि कोई राजनीतिज्ञ ही, राष्ट्रपति पद की गद्दी के योग्य है। यह कम्बख्त वैज्ञानिक तो खुद को इंसान ही समझते हैं हमेशा। इन्हें महानता को ओढ़ना आता ही नहीं है।’

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महानता के मुगालते