DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खूब बरसा पानी, किसानों के चेहरे खिले

सूखे की काली छाया से परेशान किसानों और बागवानों के लिए पिछले तीन दिनों से मानों अमृत बरस रहा है। पूरे प्रदेश में रुक-रुककर हो रही बारिश ने सूखे से परेशान काश्तकारों के चेहरे खिला दिए हैं। बारिश के इंतज़ार में हाथ पर हाथ रखे फटी हुई जमीन निहारता मजबूर किसान सक्रिय हो गया है। खेतों में कामकाज की हलचल फिर नजर आने लगी है। प्रदेश के तमाम जिलों में अच्छी वर्ष हुई है। लखनऊ में बीते दो दिनों के दरम्यान करीब छह सेण्टीमीटर बारिश दर्ज की गई। 


 मौसम निदेशक पूर्वानुमान जेपी गुप्ता बताते हैं कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर एक अपर एयर साइक्लोनिक सकरुलेशन बना हुआ था जो अब खिसक कर मध्य उत्तर प्रदेश और आसपास के इलाके के ऊपर केन्द्रित हो गया है। इसके अलावा मानसून की ट्रफ लाइन भी प्रदेश के ऊपर से होकर गुजर रही है। इस वजह से पिछले तीन दिनों में उ.प्र.के विभिन्न इलाकों में व्यापक वर्षा हुई है और अगले दो दिनों के दौरान प्रदेश के पश्चिमी मण्डलों में भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है।


पूर्व मौसम निदेशक एस.पी.राय कहते हैं कि इस वक्त वाकई किसानों के लिए आसमान से अमृत बरस रहा है। जिन किसानों ने अपने संसाधनों से धान की रोपाई कर ली थी और बारिश न होने से परेशान थे, उनके लिए यह वाकई अच्छा समय है। उन्होंने बताया कि जिन किसानों के पास रोपाई के लिए समुचित पानी के संसाधन नहीं थे वह अब भी देर से बोई जाने वाली धन की प्रजातियों के अलावा अरहर, बाजरा या मूंग आदि बो सकते हैं। इनके अलावा इस वक्त गोभी, मूली और फली वाली सब्जियां भी बोई जा सकती हैं। श्री राय ने कहा कि अगर यह बारिश आगे जारी रही तो निश्चिय ही राज्य में सूखे के असर में कमी आएगी।


अमौसी स्थित आंचलिक मौसम  विज्ञान केन्द्र से प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते दो दिनों के दौरान प्रदेश के लगभग सभी जिलों में बारिश हुई। कहीं कम तो कहीं ज्यादा। इस दरम्यान दक्षिणी-पश्चिमी मानसून सक्रिय है। रविवार को सुबह साढ़े आठ से शाम साढ़े पाँच बजे के बीच प्रदेश में सबसे अधिक 15 सेण्टीमीटर वर्षा नगीना में रिकार्ड की गई। इसके अलावा धामपुर में 13, उसका बाजार में11, औरैया, बहेड़ी, में 10-10, भोगाँव, अयोध्या, खलीलाबाद, कानपुर, बरेली, देवबंद में 8-8, हरैया, हमीरपुर, गुन्नौर, अमरोहा, चिल्लाघाट, मथुरा, ऐटा में 7-7, मनकापुर, इटावा व गरौठा में 6-6 सेण्टीमीटर बारिश रिकार्ड की गई। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले दो दिनों के दरम्यान पूरे प्रदेश में कहीं भारी वर्षा होगी तो कहीं सामान्य। अगले दो दिनों के दरम्यान  पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में भारी से बहुत भारी वर्षा होने की चेतावनी भी जारी की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खूब बरसा पानी, किसानों के चेहरे खिले