DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अनुकूल खबरों से शेयर बाजार में रहा फील गुड

अनुकूल खबरों से शेयर बाजार में रहा फील गुड

स्वाइन फलू फैलने और वर्षा के सामान्य से कम रहने की खबर के कारण शुरुआती गिरावट के बाद कुछ अनुकूल खबरों के मद्देनजर देश भर के प्रमुख शेयर बाजारों में तेजड़िए कारोबार पर हावी होते गए और सेंसेक्स लाभ दर्शाते बंद हुए।

औद्योगिक उत्पादन के मोर्चे पर कुछ बेहतर खबर और सरकार की नए प्रत्यक्ष कर संहिता का मसौदा तथा आसियान देशों के साथ मुक्त व्यापार समझोतों ने गुरुवार को बाजार को फिर से सर उठाने का मौका दे दिया और बाजार पर तेजड़िए काबिज हो गए।

बंबई शेयर बाजार में समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान तेजड़िए बाजार पर काबिज रहे और चौतरफा लिवाली समर्थन के कारण सेंसेक्स में तेजी का रुख कायम हो गया। स्वाइन फलू के फैलने तथा सामान्य से कम बारिश की खबर के कारण बाजार में आरंभ में सुस्ती का रुख दिखाई दिया। मानूसन की कमजोरी के कारण अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक प्रभाव होने की आशंका है।

बहरहाल, बाद में कुछ अनुकूल खबरों ने गुरुवार को बाजार को फिर से तेजी की राह पर लौटाने में मदद की। इन अनुकूल खबरों के कारण गुरूवार को सेंसेक्स में 498 अंकों की तेजी आई जो 27 मई के बाद एक दिन में आई सबसे अधिक तेजी को दर्शाता है।

पुन: वैश्विक मजबूती और साख निर्धारक ऐजेंसी स्टैंडर्ड एंड पूअर्स द्वारा भारत के विकास दर आकलन को 0.3 फीसदी बढ़ाकर 6.3 प्रतिशत किए जाने से कारोबारी धारणा को आगे और समर्थन प्राप्त हुआ।

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 15,545.13 और 14,701.05 अंक के दायरे में घूमने के बाद अंत में पिछले सप्ताहांत के मुकाबले 251.39 अंक अथवा 1.66 प्रतिशत की तेजी के साथ 15,411.63 अंक पर बंद हुआ। पिछले सप्ताह यहां 510.07 अंकों की गिरावट आई थी। नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 98.65 अंक अथवा 2.20 प्रतिशत सुधरकर सप्ताहांत में 4,580.05 पर बंद हुआ।

बुधवार को सरकार ने कर सुधारों का मसौदा संहिता जारी किया जिसका मकसद व्यक्तिगत करदाताओं और कंपनियों के आयकर दरों को नरम बनाना है। इसके अलावा प्रतिभूति कारोबार कर को समाप्त करने और तीन लाख रुपये की बचत पर कटौती छूट को बढ़ाने का प्रस्ताव हैं।

सरकार द्वारा गुरुवार को जारी किए गए अंकड़ों के अनुसार आईआईपी विकास दर जून में 7.8 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है जो मई में 2.7 प्रतिशत था। सप्ताह के दौरान विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) शुद्ध बिकवाल रहे जबकि घरेलू संस्थागत निवेशक इसी अवधि के दौरान शुद्ध लिवाल रहे जिसने एफआईआई के बिक्री के प्रभावों को कुछ कम कर दिया।

कलकत्ता शेयर बाजार में समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान सूचकांक में 36.07 अंकों की तेजी देखने को मिली। चालीस शेयरों पर आधारित कलकत्ता शेयर बाजार का सूचकांक 6,839.65 अंक पर खुला और सप्ताहांत में 6,875.72 अंक पर बंद हुआ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अनुकूल खबरों से शेयर बाजार में रहा फील गुड