DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुछ इस तरह हो रही है टीआरपी की तलाश

कुछ इस तरह हो रही है टीआरपी की तलाश

‘इस जंगल से मुझे बचाओ’ शो से अब तक कई लोग बाहर हो चुके हैं। आनन-फानन में पिछले दिनों शो की लोकप्रियता बढ़ाने के लिए निगार खान को भी जंगल में वाइल्ड कार्ड एंट्री द्वारा लाया गया था। अब वो भी बाहर हो चुकी हैं। निगार खान हमेशा विवादों से घिरी रहीं, चाहे वो अपने पति साहिल खान से तलाक हो या फिर एक मैगजीन के लिए अश्लील तस्वीरें खिंचवाने  का मामला। निगार आउट हो गयीं, पर जाते-जाते शो के लिए कई हॉट सीन्स जरूर दे गयीं। पलक और श्वेता के जाने के बाद हॉट सीन्स का जिम्मा निगार के कंधों पर ही था। इससे एक बात तो साफ है कि उन्हें शो में लाने का सिर्फ एक ही कारण था ग्लैमर की बरसात, जिसमें आयोजक सफल भी रहे। निगार ने शो में वो सब किया, जिसके लिए उन्हें लाया गया था। बिकनी में झरने के नीचे नहाना, छोटे कपड़े पहनना, आकाश और अमन के साथ फ्लर्ट करना आदि। इससे शो की टीआरपी थोड़ी तो बढ़ी, पर कुछ ही दिनों के लिए। अब आयोजक देर रात यानी 11 बजे के बाद रिपीट टेलिकास्ट में कुछ ऐसे दृश्य दिखाने की तैयारी कर रहे हैं, जिनसे टीआरपी बढ़े और शो एक जायज मुकाम पर काबिज हो।  शुरुआत में शो की टीआरपी कुछ खास नहीं थी। 13 जुलाई 2009 को इस शो की टीआरपी 2.32 थी। जैसे-जैसे शो आगे बढ़ता गया, शो की टीआरपी कम होती गई। दूसरे ही सप्ताह में यानी 22 जुलाई को इसकी टीआरपी 1.22 रही। हाल ही में तीन नए लोग वाइल्ड कार्ड एंट्री द्वारा आए हैं। जय भानुशाली, मीका और चित्रशी का आगमन शो में हुआ है। गौरतलब है कि तीनों ही दर्शकों के चहेते हैं।
 
जय आकाश को जानते हैं और चेतन के साथ काम कर चुके हैं। मीका और चित्रशी को  इसलिए लाया गया कि शो में स्टार टच आ सके। वैसे शो में विवादों की कमी कभी नहीं रही। कभी आकाश और फिजा के बीच हुए मनमुटाव तो कभी गाली-गलौच के कारण। लेकिन इन विवादों से भी शो की टीआरपी को कोई ज्यादा फायदा नहीं हुआ। इसी के साथ शुरू हुए ‘सच का सामना’ को लोगों का जबरदस्त रिस्पॉन्स मिल रहा है। इस शो की रेटिंग फिलहाल 4.1 चल रही है। वहीं दूसरी ओर हाल ही में खत्म हुआ एनडीटीवी इमेजिन पर ‘राखी का स्वयंवर’ को भी लोगों ने खूब पसंद किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुछ इस तरह हो रही है टीआरपी की तलाश