DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बादल फटने की घटना में अब तक 25 शव बरामद

उत्तराखण्ड के पिथौरागढ़ जिले में नाचंनी क्षेत्र में गत शनिवार को बादल फटने के बाद हुए भूस्खलन में मलबे के भीतर से अब तक 25  शवों को निकाला जा चुका है जबकि अभी भी लगभग 18 लोगों के दबे होने की आशंका है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भारत तिब्बत सीमा पुलिस और आपदा प्रबंधन विभाग के कर्मचारियों दवारा लगातार तलाशी का काम जारी रखने के चलते आज आठवें दिन अब तक 25 शव निकाले जा चुके हैं । हालांकि आठ दिनों तक शवों के मलवे में दबे रहने के चलते उनकी स्थिति खराब हो चुकी है ।

पुलिस अधीक्षक पूर्णसिंह रावत ने बताया कि इलाके के ऊंचाई पर बसे रहने के चलते शवों की तालाशी के काम में दिक्कत आ रही है इसके बावजूद शव की तलाशी का काम अभी भी लगातार जारी है ।


मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने गत शनिवार को ही घटनास्थल का दौरा करने के बाद संवाददाताओं को बताया था कि यह एक बडी़ त्रासदी है और इलाके के तीन गांवों में भारी तबाही हुई है ।

उन्होंने कहा कि गांव के पास बहने वाली नदी में भी कुछ शवों के बह जाने की आशंका है जबकि कुछ शव मलवे में दबे हैं जिन्हें निकालने का काम अभी भी जारी है ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बादल फटने की घटना में अब तक 25 शव बरामद