DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कड़ी सुरक्षा के बीच देश मनाएगा आजादी का जश्न

कड़ी सुरक्षा के बीच देश मनाएगा आजादी का जश्न

देश के 63वें स्वतंत्रता दिवस से पहले सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। प्रमुख प्रतिष्ठानों, बस अडडों, रेलवे स्टेशनों, पूजा स्थलों, बाजारों और खासतौर पर राष्ट्रीय राजधानी में सार्वजनिक स्थानों पर सुरक्षा बल बेहद सतर्कता बरत रहे हैं। जम्मू क्षेत्र और असम में आईईडी और बम बरामद हुए हैं।

हालांकि मुंबई हमलों के बाद, पहले स्वतंत्रता दिवस समारोहों के मद्देनजर किसी खतरे की कोई खास खुफिया सूचना नहीं है, इसके बावजूद सुरक्षा बल और खुफिया एजेंसियां आतंकवादी समूहों, चरमपंथियों या पूर्वोत्तर के उग्रवादियों को कोई अवसर नहीं देना चाहतीं।

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह शनिवार को सत्रहवीं शताब्दी में निर्मित लाल किले पर तिरंगा झंडा फहराएंगे और राष्ट्र को संबोधित करेंगे। इलाके में चप्पे चप्पे पर सुरक्षा बल तैनात हैं और पुरानी दिल्ली में प्रवेश और प्रस्थान की सभी जगहों पर आने-जाने वालों पर नजर रखी जा रही है।
 

दिल्ली में स्वतंत्रता दिवस के पूर्व हजारों की संख्या में सुरक्षाकर्मी चप्पे-चप्पे पर नजर रखे हुए हैं। राजधानी के कोने-कोने में सुरक्षा के मद्देनजर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। लाल किले के आस-पास सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए हैं, जहां शनिवार को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह लगातार छठवीं बार झंडा फहराएंगे।
 सुरक्षा एजेंसियों ने लाल किले पर सुरक्षा इंतजामों की समीक्षा की और ऐसे कई स्थान चिन्हित किए, जहां किसी भी संभावित आतंकी हमले के दौरान प्रधानमंत्री और अन्य नेताओं को ले जाया जा सकेगा।

स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान सुरक्षा पर नजर रखने के लिए लाल किले के आसपास 40 सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं और इस दौरान किसी भी खतरे से निपटने के लिए इस इलाके में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के बंदूकधारियों को तैनात किया जाएगा। समारोह के समय पर इलाके की सेना के विमान आसमान से निगरानी रखेंगे।

स्वतंत्रता दिवस के 90 मिनट चलने वाले समारोह के दौरान लाल किले के आस-पास के इलाके को उड़ान वजिर्त क्षेत्र घोषित कर दिया जाएगा। दूसरी ओर सुबह छह से 10 और शाम चार से सात बजे तक हवाईमार्ग को बंद रखा जाएगा। लाल किले के अलावा संसद प्रांगण, अंतरराष्ट्रीय हवाईअडडे, विभिन्न रेलवे स्टेशन, अंतरराज्यीय बस अडडों और मेट्रो स्टेशनों पर भी कड़ी निगरानी रहेगी।

सूत्रों ने बताया कि लाल किले के आसपास के इलाकों में मुखबिरों को तैनात किया जाएगा, जो असामाजिक तत्वों की गतिविधियों पर नजर रखेंगे। दिल्ली पुलिस ने सीमाओं पर भी गहन चैकिंग अभियान चला रखा है। 14 और 15 अगस्त की दरमियानी रात से सभी मालवाहक गाड़ियों को राजधानी में घुसने नहीं दिया जाएगा। यह प्रतिबंध शनिवार सुबह 11 बजे तक रहेगा।

जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बलों ने जम्मू क्षेत्र से दो शक्तिशाली आईईडी बरामद कीं। वहीं पूर्वोत्तर में असम के गुवाहाटी और बोंगइगांव जिलों से सात शक्तिशाली आईईडी बरामद की गईं। खुफिया सूचना मिली थी कि उल्फा और एनडीएफबी के उग्रवादी स्वतंत्रता दिवस समारोहों के आयोजनों में बाधा डाल सकते हैं।

भारत-नेपाल सीमा को पहले ही बंद कर दिया गया है। पाकिस्तान से लगी नियंत्रण रेखा और बांग्लादेश से सटी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर कड़ी नजर रखी जा रही है। असम में स्वतंत्रता दिवस के पूर्व पुलिस ने गुवाहाटी से सात और बोंगाईगांव से एक आईईडी बरामद किया। स्वतंत्रता दिवस समारोह में आतंकियों की विध्वंसकारी गतिविधियों की खुफिया रिपोटर्स के बाद पुलिस ने खोज अभियान शुरू किया। इसके तहत पुलिस ने शहर से लगी मेघालय पहाड़ियों के पास के एक घर से आईईडी जब्त किए और इस संबंध में कई लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

छत्तीसगढ़ के पुलिस प्रवक्ता तथा पुलिस महानिरीक्षक आर के विज ने बताया कि राज्य में पुलिस को किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के लिए कहा गया है।
 विज ने बताया कि राजधानी रायपुर में समारोह की सुरक्षा के लिए भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है तथा लगातार वाहनों की तलाशी ली जा रही है साथ ही संदिग्धों पर भी कड़ी नजर रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि नक्सल प्रभावित जिलों के सभी थानों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है तथा सीमावर्ती जिलों में चौकसी बढ़ा दी गई है।

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राजस्थान में भी सुरक्षा के तगडे प्रबंध किए गए हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार प्रदेश के संवेदनशील और अत्याधिक संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात किया गया है। इन इलाकों में वर्दीधारी और सादावर्दीधारी पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कड़ी सुरक्षा के बीच देश मनाएगा आजादी का जश्न