DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुछ यूं मना भगवान कृष्ण का हैप्पी बर्थ डे

सुबह सबेरे किसी समूह ने भगवान कृष्ण को खुली कार बिठा कर सड़कों पर डांडियां किया तो कहीं केक काट का गोपाल का हैप्पी बर्थडे मना। श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर शहर में झंकियों की बहार रही। जन्माष्टमी के त्योहार कई समूहों ने अनोखे अंदाज में मनाया। सबसे अनोखा अंदाज बिलासपुर के बोहड़ाकला स्थित ओम शांति रिट्रीट का रहा जहां सुबह की पूजा के बाद केक कटा तालियां बजी और वेस्टर्न अंदाज में श्रीकृष्ण का हैप्पी बर्थडे सेलिब्रेट किया गया। यहां की बहनों ने खुद केक तैयार किया था।

केक कटने के बाद केक के साथ सेब और मक्खन का प्रसाद भक्तों ने प्राप्त किया। इस मौके पर ब्रह्म कुमारी बहनो और भाइयों ने अलग-अलग समूह में जमकर कृष्ण का रास नृत्य किया। इस संबंध में ओम शांति रिट्रीट की राजयोगी शिक्षिका प्रीति ने बताया कि  इस नृत्य के समय मुंबई से आई वरिष्ठ बहन सिस्टर सकू ट्रांस में चली गईं, जहां वे भगवान कृष्ण को नृत्य करते हुए देख रही थीं। उन्होंने ध्यानरत रहते हुए रास नृत्य किया। इस मौके पर राजयोगिनी दादी जानकी और राजयोगिनी दादी ह्रदय मोहिनी भी मौजूद थीं। यहां भगवान कृष्ण के जीवन पर आधारित आकर्षक झंकियां भी लगी हैं।

ये झंकियां 16 अगस्त तक देखी जा सकती हैं। इनमें कृष्ण सुदामा मिलन, कृष्ण का जेल में जन्म वसुदेव का टोकरी में नवजात भगवान को ले जाना, लड्ड गोपाल और यशोदा मैया, पीपल के पत्ते पर कृष्ण, श्याम सुंदर, नारायण, चतुर्भुज, शेषनाग के सिर पर कृष्ण का नृत्य, शेर के मुख में गुफा और शिवलिंग जैसी झंकिया प्रमुख हैं। यहां मध्य रात्रि को कृष्ण जन्मोत्सव परंपरागत तरीके मनाया जाएगा। ओम शांति रिट्रीट में दिन भर भजन का सिलसिला चलता रहा।


 दूसरी तरफ कृष्ण भक्तों ने कई मुहल्लों में सुबह चंदन आदि लगाकर कृष्ण को कार में बिठाकर शोभा यात्र निकाली। भक्तों ने कृष्ण भक्ति के भजन गाते हुए रास्ते भर डांडिया नृत्य किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुछ यूं मना भगवान कृष्ण का हैप्पी बर्थ डे