DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोर्ट के स्टे से पटेल नगर में छाई मायूसी

सेक्टर-चार पटेल नगर झुग्गी बस्ती को नियमित किए जाने की यहां के निवासियों की खुशी मात्र पांच दिन में ही काफूर हो गई। हाइकोर्ट ने इस कालोनी को नियमित किए जाने के लिए स्टे दे दिया है। इस खबर से बस्ती के लोग खासे मायूस हैं। फिर भी हार मानने को तैयार नहीं। नगर निगम ने बीते सप्ताह इस कालोनी को नियमित करने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा था। यह कालोनी 1967 में बसाई गई थी। नहर खोदने वाले मजदूर नहर के किनारे झुग्गी डालकर बस गए। अब इस कालोनी में दो हजार के करीब झुग्गियां और मकान बने हुए हैं।
इस कालोनी को पास करवाने के लिए सभी कालोनीवासी एक हैं। सरकार, कोर्ट में अपना पक्ष मजबूती से रखने का दम भरते हैं। स्थानीय विधायक और पार्षद के आश्वासन से यहां के लोगों को सावंत्वना तो मिली है। लेकिन इस मामले से जुड़े कई परिवार अधिक मायूस हैं। इनमें से एक हैं शाहिदा बेगम। उनके शौहर पेशे से यूनानी डॉक्टर हैं। इस बस्ती के गरीबों का मात्र दस रुपये में इलाज करते हैं।


शाहिदा बेगम  कहती हैं कि देश में रहने का हक सभी को है। लेकिन पैसे वाले उन्हें कीड़े-मकोड़े समझते हैं। केवल इसी बात ही लड़ाई है। सेक्टर में पैसे वाले रहते हैं, जो गरीबों को कुछ नहीं समझते। शाहिदा का कहना है कि भले ही आज जन्माष्टमी के कारण लोगों ने व्रत रखा है। लेकिन कालोनी के लोगों को खाना अच्छा नहीं लग रहा। यह पुरानी कालोनी है। इसे पास होना चाहिए। अनिता का कहना है कि कोर्ट के स्टे से कालोनी वासी मायूस जरुर हैं , पर मजबूर नहीं। अपनी लड़ाई आगे जारी रखेंगे। अमीर-गरीब के बीच इस तरह की लड़ाई हमेशा से होती आई है। कालोनी के प्रधान हरकेश का कहना है कि यह बस्ती 1967 में बसाई गई थी। सेक्टर बाद में बसाए गए। कालोनी में दो हजार से अधिक मकान हैं। नगर निगम, हुडा सभी मिले हुए हैं। कोई नहीं चाहता कि कालोनी बसी रहे। नेताओं को बात समझ में आती है कि इतनी बड़ी आबादी को कैसे उजाड़ा जाएगा। इस कारण नगर निगम ने इसे पास कराने का प्रस्ताव पास किया। सुखराम आजाद का कहना है कि कोर्ट के आदेश से लोग परेशान हैं। लेकिन वे यहां से उजड़कर कहीं और जाने वाले नहीं। फ्लैट में तो बिल्कुल भी नहीं। सरकार अगर सब लोगों को कहीं और प्लॉट देगी तो स्वीकार है। उससे पहले उनकी मांग है कि इस कालोनी को पास करके उन्हें इसी स्थान पर नक्शे के साथ बसाया जाए। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोर्ट के स्टे से पटेल नगर में छाई मायूसी