DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुस्साए लोगों ने बीएसईएस के कार्यालय का घेराव किया

लाजपत नगर स्थित विनोबापुरी में बिजली का करंट लगने से हुई बच्चे की मौत मामले में गुस्साए लोगों ने गुरुवार को बिजली कंपनी बीएसईएस के कार्यालय का घेराव किया। लोगों ने सुबह रिंग रोड पर भी जाम लगाया। पुलिस ने इस संबंध में लापरवाही से मौत का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।


पुलिस के मुताबिक बुधवार की शाम पार्क में खेलते समय 13 वर्षीय हेमंत भाटिया ट्रांसफार्मर के पास पड़ी गेंद निकालने गया था। तभी उसकी करंट लगने से मौत हो गई थी। बच्चे की मौत के विरोध में उसके परिजनों और पड़ोस के लोगों ने गुरुवार की सुबह लाजपत नगर स्थित बिजली कार्यालय का घेराव किया। लोगों में गुस्सा देख कर्मचारी दफ्तर छोड़कर भाग निकले। हालत यह हो गई कि कोई भी लोगों को जवाब देने को तैयार नहीं था। फिर क्षेत्र के सैकड़ों लोगों ने रिंग रोड पर जाम लगाया। आधा घंटे तक जाम लगाए रखने के बाद पुलिस अधिकारियों के समझने पर लोगों ने प्रदर्शन बंद किया।


लोगों का कहना है कि बिजली कंपनी की लापरवाही की वजह से ही बच्चे की मौत हुई है। फिलहाल एफआईआर में बिजली कंपनी या किसी शख्स का नाम नहीं लिखकर अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इस संबंध में लाजपत नगर थाने से एक पुलिस टीम ने बिजली कंपनी के अधिकारियों से मिलकर लापरवाही बरतने वाले की जवाबदेही तय करने के लिए कहा है। दूसरी ओर बिजली कंपनी के प्रवक्ता का कहना है कि ट्रांसफार्मर के बाहर लगी ग्रिल में करंट नहीं था, बल्कि बच्च ग्रिल कूदकर उसमें घुसा था और करंट की चपेट में आ गया।

माता-पिता हैं मूक-बधिर
हेमंत अपने माता-पिता के जिगर का टुकड़ा था। उसके माता-पिता दोनों ही सुन और बोल नहीं सकते हैं। ऐसे में हेमंत और उसकी बड़ी बहन विजेता ही अपने माता-पिता को ठीक प्रकार से समझते थे। बेटे की मौत से पूरा परिवार सदमे में है। पड़ोस के लोग हादसे के बाद से हेमंत की मां को ढांढ़स बंधा रहे हैं। हेमंत के साथ रोजाना पार्क में खेलने वाले साथियों को भी रह-रह कर बुधवार की शाम करंट लगने की घटना याद आ रही है। उनका दोस्त खेलते-खेलते चंद मिनटों में उनसे हमेशा के लिए दूर हो गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गुस्साए लोगों ने बीएसईएस के कार्यालय का घेराव किया