DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीएल खेल सकते हैं पूर्व आईसीएल खिलाड़ी

आईपीएल खेल सकते हैं पूर्व आईसीएल खिलाड़ी

क्रिकेट बोर्ड ने माफी मांग चुके पूर्व आईसीएल क्रिकेटरों के तीसरे इंडियन प्रीमियर लीग में खेलने का रास्ता गुरुवार को साफ करते हुए उन्हें भुगतान की सीमा अधिकतम 20 लाख रूपये तय कर दी।

बीसीसीआई कार्यसमिति की मुंबई में हुई बैठक में आईसीएल खिलाड़ियों को मुख्यधारा से जोड़ने का फैसला लिया गया। इसमें रणजी ट्राफी विजेता की पुरस्कार राशि और अंपायरों तथा मैच रैफरियों की मैच फीस भी बढा़ने का फैसला लिया गया।

कार्यसमिति ने अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ को देश में फुटबाल के विकास के लिये अगले दो साल में 25 करोड़ रूपये देने का भी फैसला किया।

बीसीसीआई ने बैठक के बाद एक विज्ञप्ति में कहा कि जिन पूर्व आईसीएल क्रिकेटरों को माफी दे दी गई है, वे अगले सत्र (2010) में आईपीएल में खेल सकते हैं। उन्हें अधिकतम भुगतान की सीमा हालांकि 20 लाख रूपये रहेगी।

इसमें यह भी कहा गया कि रणजी ट्राफी विजेता की पुरस्कार राशि अब दो करोड़ रूपये, उपविजेता को एक करोड़ रूपये और सेमीफाइनल हारने वाली टीमों को 50-50 लाख रूपये दिये जायेंगे।

कार्यसमिति ने अमीश साहेबा और शाविर तारापोर को आईसीसी की अंतरराष्ट्रीय पेनल और संजय हजारे को टीपी अंपायर नामांकित करने का फैसला किया।

बीसीसीआई कार्यसमिति ने सितंबर से मुंबई (बल्लेबाजी), मोहाली (तेज गेंदबाजी) और चेन्नई (विकेटकीपिंग तथा स्पिनर) में विशेष कोचिंग केंद्र खोलने का भी फैसला लिया।

हर केंद्र पर विशेष कोचों की नियुक्ति की जायेगी जिन्हें सालाना रिटेनरशिप मिलेगी। कार्यसमिति ने अंपायरों की अकादमी स्थापति करने के प्रस्ताव को भी सैद्धांतिक तौर पर मंजूरी दे दी।

अन्य फैसलों में अंपायरों और कोचों को प्रति मैच दिवस 7500 रूपये देने और 3750 रूपये उनके कोष में लाभार्थ जमा करने का फैसला किया गया। अंपायरों, कोचों और मैच रैफरियों (आईपीएल को छोड़कर) को प्रति मैच दिवस 10,000 रूपये दिये जायेंगे।

आस्ट्रेलिया में इमर्जिंग प्लेयर्स टूर्नामेंट जीतने वाली टीम और सहयोगी स्टाफ के प्रत्येक सदस्य को दस लाख रूपये अतिरिक्त बोनस के रूप में दिये जायेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईपीएल खेल सकते हैं पूर्व आईसीएल खिलाड़ी