DA Image
22 फरवरी, 2020|12:41|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय क्रिकेटरों के ऐतराज पर सितंबर में बात करेगी आईसीसी

भारतीय क्रिकेटरों के ऐतराज पर सितंबर में बात करेगी आईसीसी

वाडा की डोपिंग निरोधक आचार संहिता में ठहरने के स्थान के प्रावधान को लेकर भारतीय क्रिकेटरों के ऐतराज के मद्देनजर उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिये गठित आईसीसी की विशेष समिति की पहली बैठक पांच और छह सितंबर को होगी।

समिति में भारत के पूर्व टेस्ट कप्तान अनिल कुंबले भी हैं। यह समिति ठहरने के स्थान के प्रावधान को लेकर भारतीय क्रिकेटरों के ऐतराज पर बात करेगी। भारतीय क्रिकेटरों ने इस प्रावधान को खिलाड़ियों की निजता का उल्लंघन बताते हुए दस्तखत करने से इंकार कर दिया है।

आईसीसी प्रमुख हारून लोर्गट ने बुधवार शाम कार्यसमूह के सदस्यों के बीच टेली कांफ्रेंस के बाद तारीख तय की। वाडा के महानिदेशक डेविड हाउमैन ने भी स्वतंत्र सलाहकार के तौर पर बातचीत में हिस्सा लिया हालांकि वह समूह का हिस्सा नहीं हैं।

लोर्गट ने गुरुवार को जारी एक बयान में कहा कि तारीख तय होना सफल शुरूआत है और अब हम भारतीय खिलाड़ियों की व्यवहारिक चिंताओं पर बात कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि सभी पक्ष डोपिंग के पूरी तरह से खिलाफ हैं और अगले महीने होने वाली बैठक से पहले आपसी सहयोग की यह भावना अच्छा संकेत है। बयान में कहा गया कि वाडा भी बैठक के दौरान एक अधिकारी की मौजूदगी सुनिश्चित करेगा।

इंटरनेशनल रजिस्टर्ड टेस्टिंग पूल (आईआरटीपी) कार्यसमूह के अध्यक्ष टिम केर क्यूसी है जबकि इसके सदस्यों में आईसीसी के मुख्य कार्यकारी हारून लोर्गट, बीसीसीआई के मानद सचिव एन श्रीनिवासन और आईसीसी के सैद्धांतिक सलाहकार आईएस बिंद्रा शामिल हैं।

वाडा की डोपिंग निरोधक आचार संहिता में ठहरने के स्थान के प्रावधान को लेकर ऐतराज के कारण भारतीय क्रिकेटरों के दस्तखत नहीं करने के बाद कार्यसमूह का गठन किया गया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:भारतीय क्रिकेटरों के ऐतराज पर सितंबर में बात करेगी आईसीसी