DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व मंत्री भानु के पीए के हैं कई कारनामे, डॉक्टरों से भी पैसे वसूलता था कृष्णा सिंह

रंगदारी और अपहरण के मामले में गिरफ्तार पूर्व स्वास्थ्य मंत्री भानु प्रताप शाही के पीए (रूटीन क्लर्क) कृष्णा सिंह पर पहले भी डॉक्टरों से पैसे मांगने और उन्हें धमकाने का अरोप है। वह खुद को मंत्री का खासमखास बताकर डॉक्टरों से पैसे वसूलता था। कई डॉक्टरों ने इसकी शिकायत मंत्री से भी की थी। कृष्णा सिंह मंत्री के यहां रूटीन क्लर्क के रूप में कार्यरत था। वह मंत्री के साथ ही रहता था और दौरे में भी उनके साथ ही जाता था।

पाटलिपुत्र मेडिकल कालेज धनबाद के पूर्व प्राचार्य डॉ शरत चंद्र दास ने कृष्णा और अन्य पर छह लाख रुपए मांगने का आरोप लगाया था। कृष्णा और अन्य ने उन्हें पैसा नहीं देने पर पद से हटाने और ट्रांसफर कराने की धमकी दी थी। बताया जाता है कि बाद में डॉ दास ने कतिपय कारणों से अपने आरोपों को वापस ले लिया था।

  कृष्णा ने बेरमो में पदस्थापित एक डॉक्टर को हजारीबाग का आरडीडी बनवाने के नाम पर उनसे देकर तीन लाख रुपए ले लिए। बाद में उस डॉक्टर ने इसकी शिकायत मंत्री से भी की। बाद में मंत्री के दबाव पर कृष्णा ने उस डॉक्टर को कुछ रुपए भी लौटाए।

स्वास्थ्य विभाग में एक निदेशक स्तर के अधिकारी को देवघर का सिविल सजर्न बनाने के नाम पर कृष्णा और एक अन्य ने 10 लाख रुपए लिए। यह मामला काफी चर्चा में रहा था। वह अधिकारी सिविल सजर्न भी नहीं बन पाया और उसके पैसे भी नहीं लौटे। हाल ही में कृष्णा ने बरियातू में एक फ्लैट खरीदा था। उसकी पत्नी रिम्स में कार्यरत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूर्व मंत्री भानु के पीए के हैं कई कारनामे