DA Image
26 जनवरी, 2020|7:52|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिले में स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर हाई अलर्ट

कोई इंटेलिजेंस सूचना या संदिग्ध गतिविधियां नहीं, फिर भी स्वतंत्रता दिवस व श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मद्देनजर प्रशासन ने पूरे जिले में कड़ी सतर्कता के निर्देश दिए हैं। जिले की सीमाओं में प्रवेश करने वाले वाहनों की जांच के साथ ही धार्मिक व संवेदनशील स्थानों की सुरक्षा बढ़ा दी गई हैं। खुफिया विभाग की टीम संवेदनशील इलाकों पर नजर रखे हुए है। डीआईजी पीसी मीना का कहना है कि 15 अगस्त पर जिले में पहले से ही 144 धारा लागू है। शहर की संवेदनशीलता को देखते हुए कोई रिस्क नहीं लिया जा सकता।

प्रशासन की ओर से जारी निर्देश में घातक हथियार लेकर चलने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। एडीएम सिटी के मुताबिक शहर की संवेदनशीलता के मद्देनजर 15 अगस्त पर जिले में ‘हाई अलर्ट’ रहेगा। महत्वपूर्ण स्थानों, भारत माता मंदिर, मालवीय पुल, काशी विश्वनाथ मंदिर, दुर्गा मंदिर, संकटमोचन मंदिर, महत्वपूर्ण भवनों, मॉल, कांप्लेक्स आदि की सुरक्षा कड़ी करने का निर्देश दिया गया है। सभी अपर नगर मजिस्ट्रेट अपने-अपने क्षेत्र में संबंधित सीओ व एसओ संदिग्ध व्यक्तियों एवं अराजक तत्वों पर नजर रखेंगे।

इस दौरान गड़बड़ी करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है। खासकर, स्कूल प्रबंधन को कहा गया है कि सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान स्कूल परिसर में आने वाले व्यक्तियों की जांच के बाद ही प्रवेश करने दिया जाए। डीआईजी के निर्देश पर बुधवार  को होटल, लॉज, धर्मशाला आदि की जांच की गई। गंगा किनारे बने होटलों एवं लॉजों पर विशेष निगरानी करने को कहा गया है।

गंगा किनारे दजर्नों अवैध लॉज, धर्मशाला व होटल हैं, जहां कमाई की वजह से ठहरने वालों की न तो जांच की जाती है और न ही सबंधित थाने को सूचना दी जाती है। डीआईजी ने सभी थानाध्यक्षों को निर्देश दिया है कि होटलों में गंभीरता से छानबीन की जाए। इस दौरान यह जरूर देखा जाए कि होटल में ठहरे लोगों के पास आईडी है या नहीं? 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:जिले में स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर हाई अलर्ट