DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विप में भी सत्र के दौरान होंगे आपात चिकित्सीय बंदोबस्त

विधान परिषद में भी अब सत्र के दौरान चिकित्सा की सभी सुविधाएँ मुहैया कराई जाएँगी। विधानपरिषद सदस्य शीमा रिजवी के मंगलवार को सदन में बेहोश हो जाने पर आपात चिकित्सीय इंतजामों की भारी कमी के मद्देनजर सभापति चौधरी सुखराम सिंह यादव ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री लालजी वर्मा से इस संबंध में बातचीत की। परिषद के प्रमुख सचिव डा.मोहन यादव ने बुधवार को बताया कि सभापति को मंगलवार को ही कानपुर जाना था, लेकिन वह सुश्री रिजवी की अस्वस्थता की वजह से नहीं गए।

सभापति ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री से इस मुद्दे पर बातचीत की कि सत्र चलते समय विधान सभा के लिए एम्बूलेंस समेत अन्य चिकित्सीय इंतजाम होते हैं। लेकिन विधान परिषद की बैठकों के दौरान यह व्यवस्था नहीं होती। इसलिए अगले सत्र से यह व्यवस्था होनी चाहिए कि अगली बार से परिषद की बैठकों के समय भी एम्बूलेंस, व्हील चेयर आदि की व्यवस्था रहे।

अभी परिषद की अलग से डिस्पेंसरी नहीं है और विधानसभा की डिस्पेंसरी का ही परिषद के सदस्य जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल करते हैं। परिषद के चलते समय डाक्टरों की ड्य़ूटी लगती है, लेकिन वे विधानसभा डिस्पेंसरी में ही बैठते हैं। जिन डाक्टरों की डय़ूटी लगती है वे विशेषज्ञ डाक्टर नहीं होते। जबकि शीमा रिजवी के अस्वस्थ होने पर विशेषज्ञ डाक्टर की कमी खली थी।

शीमा रिजवी को आनन-फानन में अंबेसडर से सिविल अस्पताल ले जाया गया। उस समय एम्बूलेंस की सख्त जरूरत थी। लेकिन वह नहीं मिली। उन्होंने बताया कि मंगलवार की शाम सभापति और चिकित्सा शिक्षा मंत्री के साथ अन्य वरिष्ठ मंत्रियों के तत्काल पीजीआई पहुँच जाने से इलाज की व्यवस्था हो गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विप में भी सत्र के दौरान होंगे आपात चिकित्सीय बंदोबस्त