DA Image
20 जनवरी, 2020|12:18|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

10 सितम्बर के बाद जिला मुख्यालयों पर धरना और प्रदर्शन

 बसपा महादलितों और दलितों को जोड़ने के लिए अभियान चलायेगी। प्रदेश बसपा का मानना है कि महादलित और दलित के बीच मतभेद पैदा कर जदयू और लोजपा अपनी-अपनी रोटी सेंक रही हैं। पार्टी ने निर्णय लिया है कि सर्वजन समाज की स्थापना के लिए 10 सितम्बर के बाद जिला मुख्यालयों में धरना और प्रदर्शन किया जाएगा।
पार्टी के राज्य प्रभारी गांधी आजाद एवं तिलक चन्द अहिरवार ने कहा कि नीतीश सरकार की खामियों को जनता तक पहुंचाने के लिए टाइम बांड प्रोग्राम बनाने का निर्णय किया गया है। सभी जिला अध्यक्षों को कहा गया है कि वे महंगाई, बाढ़, सुखाड़, दलितों पर अत्याचार के साथ ही ज्वलंत स्थानीय मुद्दों को लेकर आंदोलन की रणनीति बनायें।

राज्य कार्यालय को सूचित करें और सहमति प्राप्त कर आंदोलन शुरू करें। इंदिरा आवास और बीपीएल सूची में धांधली और मुखियों की मनमानी के खिलाफ स्थानीय लोगों को जागृत करें और पंचायत से लेकर प्रखंड तक उनका पर्दाफाश करें। इसके लिए पार्टी ने 10 सितम्बर तक विधानसभा और सेक्टर स्तर पर कमेटी के गठन का लक्ष्य निर्धारित किया है। हर 10 बूथ पर एक सेक्टर बनाना है जिसमें तीन पदाधिकारी चयनित होंगे। यह कमेटी हर बूथ पर 5 व्यक्ति का चयन करेगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:महादलितों और दलितों को जोड़ने का अभियान चलायेगी बसपा