DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साहिबाबाद इंस्पेक्टर ने महिलाओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

-- इंस्पेक्टर ने महिलाओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा
-- महिलाओं की भीड़ ने फिर पुलिस को दौड़ाया
-- डीएम-एसएसपी से शिकायत, जांच सीओ को

अपराधियों के आगे बेबस दिखाई दे रही गाजियाबाद पुलिस अब अपना गुस्सा पब्लिक पर उतारने में लगी है। आए दिन हो रही लूट, डकैती और चोरियों के खिलाफ हिंडन एयरपोर्ट चौकी पर प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं के साथ साहिबाबाद पुलिस ने ऐसी बर्बरता दिखाई कि लोग कांप उठे। निहत्थी महिलाओं पर लाठियां भांजी। उनको दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। आरोप है कि कुछ महिलाओं के कपड़े तक फाड़ दिए गए। इस घटना से गुस्साई महिलाओं ने बाद में स्थानीय लोगों के साथ मिलकर पुलिस को भी दूर तक दौड़ाया।


महिलाओं पर लाठीचार्ज के मामले में कई संगठनों ने इंस्पेक्टर साहिबाबाद के निलंबन की मांग उठाई है। मामला तूल पकड़ता दिखाई दे रहा है। समाजवादी पार्टी ने पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई न होने पर आंदोलन की धमकी तक दे डाली है। डीएम ने फिलहाल मामले की जांच सीओ हैप्पी गुप्तन को सौंपी है और पीड़ित महिलाओं को कार्रवाई का भरोसा दिया है।


साहिबाबाद की करहेड़ा कॉलोनी में मंगलवार की रात बीएसफ के रिटायर्ड क्लर्क अनिल बंसल के घर में डाका पड़ा था। इलाके में इससे पहले भी लूट, डकैती, चोरी, चेन स्नेचिंग की घटनाएं हो चुकी थीं। बंसल के यहां लूटपाट होने से लोग गुस्से में आ गए। कालोनी की महिलाओं ने सुबह खाना तक नहीं बनाया और बढ़ते अपराधों के खिलाफ विरोध जताने हिंडन चौकी पहुंच गई। पुलिस ने उनको वहां से भगाना चाहा तो सभी महिलाएं चौकी के सामने सड़क पर बैठ गईं और प्रदर्शन शुरू कर दिया।


सूचना पर इंस्पेक्टर साहिबाबाद योगेश पाठक थाने से और फोर्स लेकर वहां पहुंच गए। आरोप है कि इंस्पेक्टर और उनके साथ मौजूद पुलिसकर्मियों ने आते ही महिलाओं से गाली-गलौज शुरू कर दी। विरोध पर उनको पीटना शुरू कर दिया। लाठियां मारीं। बचने को इधर-उधर भाग रहीं महिलाओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। करहैडा कालोनी की मंजूसिंह ने आरोप लगाया कि इंस्पेक्टर ने उन पर घूंसे बरसाए। पुलिस ने पूर्व पार्षद राजदेवी चौधरी, किरन कालिया, गुड्डी चौधरी, पर्मिला यादव, योगेश्वरी के साथ भी मारपीट की। महिलाओं की पिटाई होती देख स्थानीय लोग लामबंद हो गए। नागरिकों ने महिलाओं के साथ मिलकर पुलिस को दौड़ा लिया। चश्मदीदों के मुताबिक, इंस्पेक्टर भागकर चौकी में जा घुसे। हंगामे की खबर पर सिटी मजिस्ट्रेट उमेश मिश्र वहां पहुंच गए और जांच का भरोसा देकर महिलाओं को शांत किया।


गुस्साई महिलाओं ने बाद में कलेक्ट्रेट पहुंचकर डीएम आर रमेश कुमार से मुलकात की और दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि मामले की जांच सीओ साहिबाबाद हैप्पी गुप्तन को सौंपी है। सपा महानगर अध्यक्ष रामकिशोर अग्रवाल ने अफसरों से मिलकर पुलिसकर्मियों के निलंबन की मांग उठाई। चेतावनी दी कि यदि कार्रवाई नहीं हुई तो सपा आंदोलन करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:साहिबाबाद इंस्पेक्टर ने महिलाओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा