DA Image
26 जनवरी, 2020|2:08|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बदायूं में एड्स के छह नए मामले

जिले में एड्स के 6 नये मामले प्रकाश में आये है, जिससे जनपद में एडस पीड़ितों की संख्या 43 तक पहुंच गई।

प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी डा़ शिव ओम ने बताया कि इनकी पहचान हो चुकी है और जांच के बाद जिनमें एचआईवी पोजिटिव पाया गया है।

डा़ शिव ओम ने बताया कि पिछले जुलाई माह में जिले से 45 नमूने जांच के लिये भेजे गये थे जिनमें सोमवार को मिली रिपोर्ट में 6 मामले पाजीटिव है।

उन्होंने कहा कि जनपद में एड्स की बीमारी से प्रभावित मरीजों की संख्या और अधिक हो सकती है किन्तु लोकलाज एवं सामाजिक बहिष्कार के डर से लोग जांच नहीं करवाते हैं और रोग छिपाने की वजह से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक, यहां तक पूरे के पूरे परिवार इसकी चपेट में आ रहे हैं।

डा़ शिव ओम ने बताया कि जनपद में एड्स नियंत्रण की सारी सुविधायें उपलब्ध है, ब्लड बैंकों को कड़े निर्देश दिये गये है कि बिना जांच के किसी का ब्लड न तो लिया जाए और न ही चढ़ाया जाए, उन्होंने बताया कि एड्स एचआईवी जांच कराने वाले सभी मरीजों की पहचान गुप्त रखी जाती है तथा पहचान बताये बगैर ही पीड़ितों की दवा व देखभाल की जाती है।

समाजसेवी एवं शिक्षाविद डा़ विष्णु प्रकाश मिश्रा के अनुसार जिले में एड्स नियंत्रण के लिये कोई सामाजिक अथवा गैर सरकारी संस्था काम नहीं कर रही है। जबकि एड्स के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करने की बहुत बड़ी आवश्यकता है क्योंकि एड्स पीड़ित समस्त रोगी काफी गरीब तबके से है जो रोजी—रोटी के लिये देश के विभिन्न भागों में मजदूरी करने जाते है और असुरक्षित यौन—संबंधों के कारण उनमें यह रोग पैदा होता है और फिर उस व्यक्ति से यह रोग परिवार के अन्य सदस्यों को अपनी गिरफ्त में ले लेता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:बदायूं में एड्स के छह नए मामले