class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तर प्रदेश में 36,790 नए आंगनवाड़ी केन्द्र खोले जायेंगे

आंगनवाड़ी केंन्द्रो पर बच्चों को पौष्टिक आहार, स्कूल पूर्व शिक्षा, गर्भवती महिलाओं और किशोरियों को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी एवं पोषाहार की उपलब्धता को और सुगम बनाने के लिए उत्तर प्रदेश में 36,790 नये आंगनवाड़ी केन्द्र खोले जायेंगे।

यह जानकारी बाल विकास एवं पोषाहार निदेशक चन्द्र प्रकाश ने दी है। उन्होंने बताया कि पूर्व में एक हजार की आबादी पर एक आंगनवाड़ी केन्द्र खोले जाने का प्रावधान था जिससे कई छोटे आबादी वाले गांव एवं मजरे के बच्चों को लम्बा रास्ता तय कर दूर-दराज स्थित आंगनवाड़ी केन्द्र पर जाना पड़ता था। गरीब बच्चों एवं महिलाओं के हितों को ध्यान में रखते हुए अब 500 तक की आबादी पर आगनवाड़ी केन्द्र एवं 250 की आबादी पर मिनी आंगनवाड़ी केन्द्र खोले जाने का निर्णय भारत सरकार द्वारा लिया गया है।

चन्द्र प्रकाश ने बताया कि प्रदेश में 14,604 नये आंगनवाड़ी केन्द्र एवं 22,186 मिनी आंगनवाड़ी केन्द्र खोले जा रहे है। प्रदेश के सभी जनपदों को लक्ष्य भेज दिये गये है। उन्होंने बताया कि इस समय प्रदेश में कुल 1,51,469 आगनवाड़ी केन्द्र संचालित है जो बढ़कर 1,85,259 हो जायेंगे जिससे बच्चे अब अपने गांव में पोषाहार के साथ स्कूल पर्व शिक्षा पा सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उत्तर प्रदेश में 36,790 नए आंगनवाड़ी केन्द्र खोले जायेंगे