DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फरीदाबाद, बहादुरगढ़ और कुंडली को भी दिल्ली मेट्रो से जोड़ने की योजना-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा मंगलवार को देश में पहली बार निजी कंपनियों की ओर से बनाई जा रही मेट्रो रेल लिंक का रिमोट से शिलान्यास किया। इस परियोजना पर 900 करोड़ रूपए की लागत आएगी। मेट्रो लिंक का निर्माण डीएलएफ तथा आईएल एण्ड एफएस संयुक्त रूप कर रही है।

मुख्यमंत्री ने मेट्रो रेल लिंक का शिलान्यास डीएलएफ फेज-3 के मॉलसरी रोड पर किया। लगभग 6.1 किलोमीटर लम्बे मेट्रो रेल लिंक में 6 स्टेशन बनाने की योजना है। इसमें सिकन्दरपुर, डीएलएफ फेस-2, बलवेंडेयर टावर, डीएलएफ फेस-3, गेटवे टावर व मॉल आफ इंडिया शामिल है। परियोजना को 2012 के मध्य तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने ने कहा कि गुड़गांव के बाद बहादुरगढ, कुण्डली व फरीदाबाद को भी मेट्रो रेल से जोड़ने का प्रस्ताव केन्द्र सरकार को भेजा गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेट्रो रेल प्रोजेक्ट से गुड़गांववासियों को काफी लाभ मिलेगा। मेट्रो आने से भीड़ व जाम की समस्या से छुटकारा मिलने के अलावा, ध्वनि व वायु प्रदूषण से भी गुड़गांव वासियों को राहत मिलेगी। उन्होंने दिल्ली मेट्रो का विस्तार गुड़गांव तक करने के लिए केन्द्र सरकार का आभार जताया और बताया कि इस परियोजना पर हरियाणा सरकार द्वारा 688 करोड़ रूपए खर्च किए जा रहे हैं। 7.5 किलोमीटर लम्बी दिल्ली-गुड़गांव मेट्रो बनाई जा रही है जो जनवरी, 2010 में चालू हो जाएगी। इसके लिए हुडा विभाग नोडल एजेन्सी है।

सीएम ने कहा कि गुड़गांव के बाद बहादुरगढ, कुण्डली व फरीदाबाद को भी मेट्रो रेल से जोड़ने का प्रस्ताव केन्द्र सरकार को भेजा गया है। रिंग रेल कोरीडोर बनाने के लिए नजफगढ़ को भी मैट्रो से जोड़ने का आग्रह किया गया है। उन्होंने आईएल एण्ड एफएस के पदाधिकारियों से कहा कि मेट्रो लिंक में उन्हें सरकार का पूरा सहयोग दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि विश्व स्तरीय पब्लिक ट्रांसपोर्ट तथा अर्बन पब्लिक ट्रांसपोर्ट विकसित करने के लिऐ राष्ट्रीय स्तर पर तरजीह देनी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेट्रो रेल गुड़गांव की आधारशिला मुख्यमंत्री ने रखी