class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर ऑस्कर की दहशत में

ऑस्कर का भूत शहर पर अब पूरी तरह हावी हो चुका है। प्रदेश सरकार के एच1एन1 को महामारी घोषित कर देने से लोग भीड़-भाड़ वाले इलाके में जाने से घबराने लगे हैं। अपने मिलने जुलने वालों को ऐसी जगहों पर जाने से मना कर रहे हैं जिन्हें ऑस्कर हाथ लग लग सकता है। विदेश से आई इस बीमारी का लोग इसी नाम से पुकारने लगे हैं।

सूबे में स्वाइन फ्लू के 13 मरीज मिलने और इसके संभावित मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते बुधवार को फरीदाबाद में लगने वाला तीन दिवसीय विशाल हेल्थ मेला रद्द कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने निजी अस्पताल, नर्सिग होम, क्लीनिक और नामचीन पैथोलैब को भी सतर्क रहने को कहा है। मॉल, सिनेमा घर, मार्केट और भीड़भाड़ वाले इलाके हाई रिस्क जोन घोषित कर दिए गए हैं।

फरीदाबाद में स्वाइन फ्लू के दो, गुड़गांव में आठ, पानीपत में दो और सिरसा में स्वाइन फ्लू के 13 मरीज अब तक सामने आ चुके हैं। चिंताजनक स्थिति यह है कि विदेशी या एयरपोर्ट बैंकग्राउंड से संबंध नहीं रखने वालों में भी रोग विस्तार लेने लगा है। सोमवार को बीके में आए संभावित मरीजों में अधिकांश इसी तरह के लोग थे। स्वास्थ्य आयुक्त ने सिविल सजर्न को भीड़भाड़ वाली जगह पर नजर रखने का कहा है। महामारी के चलते सिविल सजर्न को इसकी रोक थाम को विशेष अधिकार दिए गए हैं।

सिविल सजर्न डॉ. रामेंद्र सिंह का कहना है कि बच्चे और बूढ़े में इस बीमारी के पनपने की संभावना ज्यादा है। इसे देखते हुए एपीडेमिक एक्ट नोटिफाई किया गया है। जरुरत पड़ने पर बीके अस्पताल में पैथोलाजिस्ट और जांच के लिए इक्यूपमेंट निजी अस्पतालों से भी मंगाए जा सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शहर ऑस्कर की दहशत में