DA Image
22 जनवरी, 2020|7:39|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बड़े अपराधों के लिए अब एसपी-डीआईजी होंगे जिम्मेदार

जिले में कोई बड़ा अपराध हुआ तो थाना नहीं बल्कि जिले का एसपी, एसएसपी और डीआईजी जिम्मेदार माने जाएँगे। मुख्यमंत्री मायावती ने कहा है कि इस मामले में अब किसी तरह का ढीलापन और उदासीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

पुलिस अफसरों को यह संदेश सीधे देने के लिए बुधवार को मुख्यमंत्री आवास पर सभी रेंज आईजी और डीआईजी की बैठक बुलाई गई है जिसमें सीनियर अफसर भी मौजूद रहेंगे। कानून व्यवस्था की सुविधा के अब एडीजी कानून व्यवस्था के पद को यूपी ईस्ट और यूपी पश्चिम में बाँट दिया गया है।

मुख्यमंत्री ने यह फैसला अपने आवास पर सोमवार को करीब छह घंटे तक चली बैठक के बाद लिया। इसमें राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा हुई। मुख्यमंत्री ने फैसला किया कि अब अगर अपराध होते हैं तो सीनियर अफसर सीधे जिम्मेदार माने जाएँगे।

उन्होंने कहा कि गरीबों, कमजोरों और शोषित वर्ग के लोगों को न्याय देने का जो संकल्प है, उसमें वह किसी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं करेंगी। मायावती ने कहा कि यूपी सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला बड़ा राज्य है। लिहाजा यहाँ की कानून व्यवस्था को सुचारु ढंग से चलाने के लिए एडीजी कानून व्यवस्था प्रथम और द्वितीय के दो पद सृजित कर दिए गए हैं। एडीजी प्रथम बृजलाल रहेंगे। उनके जिम्मे पूर्वी उत्तर प्रदेश के अलावा एसटीएफ की अतिरिक्त जिम्मेदारी होगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:बड़े अपराधों के लिए अब एसपी-डीआईजी होंगे जिम्मेदार