DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जयंती पर याद किए राममनोहर लोहिया

विभिन्न संगठनों द्वारा सोमवार को समाजवादी नेता राममनोहर लोहिया की जयंती मनायी गयी। लोहिया उद्यान परिसर में डा. लोहिया की प्रतिमा के समक्ष आयोजित राजकीय समारोह में प्रमंडलीय आयुक्त सुनील बर्थवाल, पुलिस उप महानिरीक्षक जेएस गंगवार और जिलाधिकारी जितेन्द्र कुमार सिन्हा ने लोहिया की तस्वीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी। जदयू कार्यालय में लोहिया जयंती सामाजिक एवं सम्प्रदायिक स्रदभाव के रूप में मनायी गयी। पार्टी कार्यकर्ताओं ने लोहिया के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धासुमन अर्पित किया।ड्ढr ड्ढr श्रद्धासुमन अर्पित करने वालों में उपाध्यक्ष संतोषी वर्मा, अजय कुमार घोष, ज्ञानेन्द्र कुमार सिंह ज्ञानू, महासचिव संजय कुमार सिंह,अनिल पाठक,ाावेद महमूद आदि शामिल थे। राजद कार्यालय में आयोजित जयंती समारोह की अध्यक्षता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अब्दुलबारी सिद्दीकी ने की। श्री सिद्दीकी ने कहा कि डा. लोहिया ने सामाजिक न्याय की लड़ाई को जमीन पर उतारा। माल्यार्पण करने वालों में राजद के प्रधान महासचिव रामकृपाल यादव, विधान पार्षद डा. रामवचन राय, रामजी प्रसाद, अख्तरूल इमान, शक्ित सिंह यादव, छात्र राजद के प्रदेश अध्यक्ष स्वदेश कुमार, देवमुनी सिंह यादव, अनिल कुमार यादव, सतीश पासवान आदि शामिल थे।ड्ढr ड्ढr 1ोपी आन्दोलनकारी सम्पूर्ण क्रांति मंच और बिहार विकास मोर्चा के संयुक्त तत्वावधान में प्रेमलता कुमारी की अध्यक्षता में जयंती मनी। बिहार प्रदेश समाजवादी पार्टी के कार्यालय में आयोजित समारोह में उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनके व्यक्ितत्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला गया। लोहिया दृष्टिकोण द्वारा डा. लोहिया की भूमिका विषय पर सेमिनार हुआ। सेमिनार की अध्यक्षता डा. केएम शरण ने की। उन्होने डा. लोहिया को गरीबों का मसीहा बताया। बिहार राज्य दफादार चौकीदार पंचायत द्वारा भी जयंती मनायी गयी। पूर्व सांसद राम अवधेश सिंह ने कहा कि लोहिया के विचार आज भी प्रासंगिक है। बिहार असंगठित मजदूर मोर्चा द्वारा लोहिया की जयंती पर में लोहिया के रास्ते पर चलने का निर्णय लिया गया। सप्त क्रांति वाहिनी द्वारा राधाकांत यादव की अध्यक्षता में लोहिया की जयंती पर गोष्ठी आयोजित की गयी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जयंती पर याद किए राममनोहर लोहिया