class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई में फ्लू से महिला की मौत, कुल 10 मरे

मुंबई में फ्लू से महिला की मौत, कुल 10 मरे

दक्षिणी मुंबई स्थित एक निजी अस्पताल में मंगलवार को स्वाइन फ्लू से 63 वर्षीय एक महिला की मौत हो गई, और इसके साथ ही देशभर में इस बीमारी से मरने वालों का आंकड़ा 10 तक पहुंच गया है।

मृतक महिला की पहचान ठाणे जिले के नजदीक मुम्ब्रा निवासी सईदा दोरजीवाला के रूप में हुई है । उसे छह अगस्त को नूर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वृहद मुंबई नगर निगम की आपदा प्रबंधन इकाई के अनुसार उसे एच1एन1 विषाणु का संक्रमण पाया गया था । वह कुछ अन्य जटिलताओं से भी पीड़ित थी ।

मुम्बई में स्वाइन फ्लू से सबसे पहले फामिदा पानवाला (53) की मौत हुई थी। फ्लू से नौंवी मौत वडोदरा में हुई जब एक सात वर्षीय लड़की ने दम तोड़ दिया। गुजरात में यह स्वाइन फ्लू से दूसरी मौत है। इससे पहले गुजरात के एक एनआरआई की फ्लू से मौत हो गई थी।

इससे पहले मंगलवार सुबह एक 13 वर्षीय छात्रा की मौत हो गई थी। नारायण पेठ स्थित अहिल्यादेवी हाईस्कूल की छात्रा श्रुति गावडे को गत 06 अगस्त को गंभीर हालत में सासून सरकारी अस्पताल के गहन चिकित्सा कक्ष में भर्ती कराया गया था। इससे पहले इस छात्रा का इलाज एक निजी अस्पताल में चल रहा था। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा पीएस पवार ने बताया कि सुबह छह बजकर तीस मिनट पर श्रुति गावडे की मौत हो गई। अस्पताल के डाक्टरों ने बताया है कि शनिवार को कोंधवा खुर्द से यहां भर्ती किए गए एक 35 वर्षीय मरीज की हालत गंभीर बनी हुई है।

इस बीच केंद्रीय स्वस्थ्य मंत्री गुलाम नबी आजाद ने स्वाइन फ्लू से कारगर तरीके से निबटने के लिए राज्यों के मुख्यमंत्रियों को निर्देश दिए हैं। मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आजाद ने 22 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात कर इस वैश्विक महामारी से निबटने के उपायों पर चर्चा की और आवश्यक निर्देश जारी किए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने मुख्यमंत्रियों को केंद्र सरकार द्वारा उठाए जा रहे उपायों की जानकारी देते हुए राज्यों के निजी अस्पतालों को जांच व इलाज संबंधी दिशा निर्देश जारी करने को भी कहा है।

उधर जम्मू कश्मीर में भी स्वाइन फ्लू का पहला मामला सामने आया है। अकांक्षी नाम की यह युवती पुणे के एक कॉलेज से एमबीए की पढ़ाई कर रही थी। जम्मू के सरकारी अस्पताल ने इस बात की पुष्टि की है।

उधर, चिंचवाड के लोकमान्य अस्पताल में भी एक 25 वर्षीय महिला की मौत का मामला सामने आया है। हालांकि अस्पताल प्रशासन ने अबतक मौत के कारणों की पुष्टि नहीं की है। अस्पताल प्रशासन ने बताया कि महिला के गले के द्रव के नमूने जांच के लिए राष्ट्रीय विषाणु रोग संस्थान को भेजे गए है और अभी जांच रिपोर्ट आना बाकी है।

पिंपरी चिंचवाड नगर पालिका के चिकित्सा निदेशक डा राजशेखर अय्यर ने बताया कि महिला के नाक और गले के द्रव के नमूनों की जांच रिपोर्ट आनी अभी बाकी है। उन्होंंने कहा कि महिला की मौत एच1 एन1 फलू से हुई है मैं इस बात की पुष्टि नहीं कर सकता।

इस क्षेत्र की दो महिलाओं को कल गंभीर हालत में लोकमान्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इनमें से एक महिला की उम्र 35 वर्ष है तथा उसे निर्मय अस्पताल से यहां स्थानांतरित किया गया है। दूसरी महिला की उम्र 31 वर्ष है। डा पवार ने बताया कि दोनों महिलाओं को वेंटिलेटर पर रखा गया है।

राजधानी दिल्ली में एच1एन1 फ्लू से संक्रमण के दो और नए मामले प्रकाश में आए हैं। पूर्वी दिल्ली स्थित एल्कान पब्लिक स्कूल के दो छात्रों को फ्लू के संक्रमण की पुष्टि हुई है। स्कूल के प्रधानाध्यापक आरके शर्मा ने बताया कि तीसरी तथा नर्सरी कक्षा में पढ़ने वाले इन दोनों छात्रों को एच1एन1 फ्लू होने की कल पुष्टि हुई है। उन्होंने बताया कि दोनों ही छात्र हाल ही में सिंगापुर से लौटे हैं। शर्मा ने बताया कि स्कूल प्रशासन ने अगले एक सप्ताह तक स्कूल बंद रखने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि स्कूल अब 17 अगस्त को खुलेगा।

इस बीच, राजधानी दिल्ली से सटे राज्य हरियाणा ने स्वाइन फ्लू से निबटने के लिए 1897 में बने महामारी निरोधक कानून को लागू करने का फैसला किया है। इस कानून के तहत निजी अस्पतालों के लिए यह अनिवार्य होगा कि वह स्चवाइन फ्लू के लक्षण वाले मरीजों की सूचना अपने निकटवर्ती सरकारी अस्पताल को देगा। राज्य में अबतक स्वाइन फ्लू से पीड़ित 38 मामले पाए गए हैं जिनमें से 27 को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुंबई में फ्लू से महिला की मौत, कुल 10 मरे